बवाना उपचुनाव: अलका लांबा के सर्वे वाले ट्वीट को ABP न्यूज ने बताया फर्जी, कपिल मिश्रा चुनाव आयोग से करेंगे शिकायत

0

आम आदमी पार्टी(ABP) की विधायक अलका लांबा ने गुरुवार(17 अगस्त) को अपने ट्विटर हैंडल पर एक फर्जी सर्वे को ABP न्यूज का सर्वे बताते हुए ट्वीट कर दावा किया कि उनकी पार्टी बवाना में शानदार जीत हासिल कर रही है। हालांकि, चैनल ने एक बयान जारी कर लांबा के दावों को खारिज कर दिया। जिसके बाद AAP नेता इस ट्वीट को डिलीट कर दिया।

दरअसल, अलका लांबा ने फोटोशॉप के जरिए बनाए एक फर्जी सर्वे की तस्वीर पोस्ट की थी, जिसे उन्होंने दावा किया कि यह सर्वे ABP न्यूज ने किया है। इस फर्जी सर्वे में दिखाया गया था कि बवाना उपचुनाव सीट पर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार रामचंद्र 48 प्रतिशत वोटों के साथ नंबर वन पर हैं।

वहीं, इस फर्जी सर्वे में कांग्रेस के उम्मीदवार सुरेंद्र कुमार को 29 प्रतिशत वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रखा गया था। जबकि बीजेपी के उम्मीदवार वेद प्रकाश को 23 प्रतिशत वोटों के साथ सबसे पीछे दिखाया गया था। इस सर्वे के साथ अलका लांबा ने पोस्ट करते हुए ट्विटर पर लिखा था, ‘बवाना की जनता राम के नाम पर BJP को नहीं AAP को वोट दे रही है।’ (नीचे स्क्रीनशॉट देख सकते हैं)अलका लांबा ने यह ट्वीट 17 अगस्त 2017 को किया था। लांबा द्वारा यह सर्वे ट्वीट करते ही AAP समर्थकों द्वारा तेजी से शेयर होने लगा। हालांकि, कुछ देर बाद इस बात का खुलासा हुआ कि AAP नेता द्वारा किया गया यह ट्वीट फर्जी है। खुद एबीपी न्यूज ने एक बयान जारी बताया कि अलका द्वारा ट्वीट किया गया सर्वे उसका नहीं है।

साथ ही ABP न्यूज ने ट्विटर पर इस सर्वे को खारिज करते हुए लिखा, ‘दिल्ली के बवाना में विधानसभा चुनाव को लेकर ABP न्यूज ने कोई सर्वे नहीं किया है। साथ ही चैनल ने अपील की है ऐसी झूठी खबरों का प्रसार न करें।

चैनल के अलावा एबीपी न्यूज के संपादक मिलिंद खांडेलकर ने भी ट्वीट कर इस सर्वे को फर्जी करार देते हुए कहा कि एबीपी ने दिल्ली उप चुनाव के लिए ऐसा कोई सर्वे नहीं करवाया है। संपादक ने इस सर्वे वाली तस्वीर को फोटोशॉप करार देते हुए खारिज कर दिया। इसके फौरन बाद अलका लांबा ने इस फर्जी सर्वे को डिलीट कर दिया। इस संबंध में हमने अलका लांबा की प्रतिक्रिया जानने की कोशिश की लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

चुनाव आयोग जाएंगे कपिल मिश्रा 

अलका लांबा द्वारा ट्वीट को डिलीट करने के बाद भी यह मामला थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है। दरअसल, इस मामले में अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी के खिलाफ पिछले दिनों से मोर्चा खोल रखे आम आदमी पार्टी(AAP) के बागी नेता कपिल मिश्रा आज(शुक्रवार) चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाएंगे।

‘जनता का रिपोर्टर’ से बातचीत में पूर्व मंत्री मिश्रा ने कहा कि वह इस मामले में आज 3 बजे चुनाव आयोग जाएंगे और अलका लांबा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराएंगे। उन्होंने कहा कि लांबा ने इस सर्वे को शेयर कर बवाना की जनता को भ्रम में डाला है जो बहुत बड़ा अपराध है।

साथ ही उन्होंने कहा कि वह चुनाव आयोग से बवाना सीट से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार रामचंद्र के खिलाफ भी शिकायत दर्ज कराएंगे। उन्होंने कहा कि रामचंद्र को अब चुनाव लड़ने का कोई अधिकार नहीं है, आयोग से हम उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगाने की मांग करेंगे।

केजरीवाल के लिए नाक का सवाल बना बवाना उपचुनाव

गौरतलब है कि दिल्ली के बवाना विधानसभा सीट पर 23 अगस्त को उपचुनाव के लिए मतदान होना है। इसी के मद्देनजर हर एक राजनीतिक पार्टी ने अपनी पूरी ताकत चुनाव प्रचार में झोंक दी है। वैसे तो बीजेपी, कांग्रेस और सत्ताधारी आम आदमी पार्टी तीनों ही पार्टियों ने अपने प्रचार में स्टार प्रचारक से लेकर घर-घर जाकर वोट मांगने में लगे हुए हैं।

दरअसल, यह उपचुनाव असल मे अगर किसी एक शख्स के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण है या यूं कहें कि भविष्य का सवाल है तो वो हैं आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल। अब जनता की उम्मीदें और नेताओं के दावे के बीच कौन अपनी परीक्षा में सही साबित होता है, यह बात आने वाले 23 अगस्त के चुनाव में तय हो जाएगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here