‘नशामुक्त बिहार’ में थाना प्रभारी के आवास से भारी मात्रा में शराब बरामद, 39 पुलिसकर्मियों पर गिरी गाज

0

बिहार में इस वक्त पूर्ण शराबबंदी लागू है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शराबबंदी के अपने फैसले को लेकर देश भर में पीठ थपथपाते रहते हैं। लेकिन नीतीश सरकार के लाख कोशिशों के बाद भी राज्य में अवैध रूप से शराब की बिक्री जोरों से जारी है। स्थिति यह है कि अब बिहार में थाना प्रभारी के आवास से अवैध शराब की बोतलें बरामद की जा रही हैं।

बिहार
Photo: Social media

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मोतीपुर थाना परिसर में थाना प्रभारी आवास से भारी मात्रा में शराब बरामदगी के बाद थाने में पदस्थापित सभी पुलिसकर्मियों का स्थानांतरण कर दिया गया है। साथ ही थाना प्रभारी और सहायक अवर निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है। समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, मुजफ्फरपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार ने यहां मंगलवार को कहा कि रविवार को थाना प्रभारी कुमार अमिताभ के आवास से बड़ी मात्रा में शराब बरामद की गई थी।

उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच के बाद मुजफ्फरपुर प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) सुनील कुमार के आदेश पर मोतीपुर थाने में पदस्थापित सभी 39 पुलिसकर्मियों का स्थानांतरण कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि थाना प्रभारी कुमार अमिताभ एवं सहायक अवर निरीक्षक अमेरिका प्रसाद को निलंबित कर दिया गया है और उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। फिलहाल, अभी दोनों फरार हैं।

उन्होंने कहा कि इन दोनों पुलिस अधिकारियों पर विभागीय कार्रवाई की भी अनुशंसा की गई है। इस बीच पुलिस मुख्यालय ने भी पुलिस महानिरीक्षक से इस मामले की पूरी रपट मांगी है। आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार रात मद्य निषेध विभाग ने थाना परिसर स्थित थाना प्रभारी के आवास पर छापामारी कर बड़ी मात्रा में शराब, नकदी और अन्य सामान बरामद किए थे।

बता दें कि, बिहार में शराबबंदी लागू हुए करीब 3 साल हो गए हैं। सूबे में एक अप्रैल, 2016 को शराबबंदी के पहले चरण की शुरुआत हुई थी। इसके पांचवें दिन ही यानी 5 अप्रैल को अचानक सूबे में पूर्ण शराबबंदी की घोषणा कर दी गई थी। शराबबंदी के सख्त कानून ने राज्य के दसियों हजार से ज्यादा लोगों को जेल में डाल रखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here