गुरु ग्रंथ साहिब अपमान मामला: पंजाब पुलिस ने अक्षय कुमार को भेजा समन, अभिनेता पर प्रकाश सिंह बादल और रेप के आरोपी गुरमीत राम रहीम के बीच मध्यस्थता कराने का आरोप

0
3

तीन साल पहले पंजाब के फरीदकोट स्थित बरगाड़ी गांव में सिखों के पवित्र ग्रंथ ‘श्री गुरु ग्रंथ साहिब’ के अपमान के मामले में जांच कर रही विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार को समन भेजकर पूछताछ के लिए बुलाया है। एसआईटी ने इस मामले में अक्षय कुमार के साथ पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल को भी समन भेजा गया है।

पंजाब के बहबल कलां में बेअदबी के मुद्दे पर पुलिस की गोलीबारी की जांच कर रहे एसआईटी ने समन जारी कर प्रकाश सिंह बादल को 16 नवंबर को पंजाब पुलिस की एसआईटी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है। जबकि, सुखबीर को 19 नवंबर तथा अक्षय कुमार को 21 नवंबर को अमृतसर में सर्किट हाउस में पेश होने के लिए कहा गया है।

समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक चंडीगढ़ में जारी हुई एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, एसआईटी सदस्य और आईजी रैंक के अधिकारी कुंवर विजय प्रताप सिंह ने अलग-अलग सम्मन आदेश जारी किए हैं। एसआईटी राज्य में बेअदबी की कई घटनाओं के बाद 2015 में फरीदकोट में कोटकपूरा और बहबल कलां में गोलीबारी की घटनाओं की जांच कर रही है। बहबल कलां में पुलिस गोलीबारी में दो लोग मारे गए थे।

इस मामले में अक्षय कुमार पर जस्टिस रणजीत सिंह आयोग की रिपोर्ट में संगीन आरोप लगे थे। अभिनेता पर आरोप है कि उन्होंने कथित तौर पर 20 सितंबर 2015 को अपने फ्लैट पर तत्कालीन सीएम प्रकाश सिंह बादल और रेप के आरोपी डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के बीच बैठक करवाई। इस दौरान श्री तख्त दमदमा साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरमुख सिंह भी मौजूद थे।

इसी बैठक के दौरान ही डेरा प्रमुख की फिल्म को पंजाब में रिलीज करने पर मुहर लगी। हालांकि अक्षय कुमार इन आरोपों को खारिज करते रहे हैं। अक्षय ने अपनी सफाई में कहा था कि अपने पूरे जीवन में वह कभी भी राम रहीम से नहीं मिले हैं। हालांकि अक्षय की पत्नी ट्विंकल खन्ना ने राम रहीम का फोटो ट्वीट कर बताया था कि वह उनके पड़ोस में रहने आया है।राम रहीम फिलहाल रेप के आरोप में जेल की सजा काट रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here