VIDEO: अक्षय कुमार को हंसाने में विफल रहा पीएम मोदी का ‘समाजवादी’ और ‘ऑटो चालक’ वाला यह चुटकुला

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता अक्षय कुमार को दिए एक इंटरव्यू में खुद से जुड़ी कई निजी बातें शेयर की हैं। राजनीति और देश की बातों से इतर जाकर मोदी ने अपनी जिंदगी और उससे जुड़े कई पहलुओं पर बात की। इस इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी ने अक्षय कुमार को बताया कि मैं आम खाता हूं और मुझे आम पसंद भी है, अभी सोचना पड़ता है कि आम खांऊ कि न खाऊं। इस दौरान पीएम मोदी ने आम के शौक से जुड़े अपने बचपन के दिनों को भी याद किया।

अक्षय कुमार

इंटरव्यू की शुरुआत में अक्षय कुमार ने पहला सवाल पूछते हुए कहा कि लोग बहुत कुछ जानना चाहेंगे आपके बारे में। मेरा ड्राइवर है, उसकी बेटी से मैं पूछ रहा था कि तुम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोई सवाल पूछना चाहोगी तो क्या पूछोगी तो कमाल का सवाल उसने पूछा कि क्या हमारे प्रधानमंत्री आम खाते हैं और अगर खाते हैं तो क्या काटकर खाते हैं या ऐसे गुठली के साथ खाते हैं। मैं जानना चाहता हूं कि क्या आप आम खाते हैं?

पीएम मोदी ने जवाब देते हुए कहा, ‘एक तो मैं आम खाता भी हूं और आम खाना मुझे बहुत पसंद भी है। गुजरात में आमरस की परंपरा भी है। देखिए जब मैं छोटा था तो वैसे तो कोई आम-वाम खरीदना-वरीदना हमारे लिए कोई उस प्रकार की लग्जरी हमारी फैमिली थी नहीं लेकिन कभी खेतों में चले जाते थे। हमारा देश का जो किसान है बड़ा उदार रहता है। कोई खेत में आकर के खाता है तो कभी रोकता नहीं है। चोरी करता है तो रोकता है।’

उन्होने आगे कहा, ‘तो आम के पेड़ पर जो पके हुए आम थे, वह खाना हमें जरा ज्यादा पसंद था। यानी उतारने के बाद पकाया हुआ नहीं नेचर के कोर्स में पका हुआ। तब कोई हाइजीनिक समझ भी नहीं थी कि धोना चाहिए। ऐसे ही अपना कर लेते थे। बाद में जब बड़े हुए तो कई वैराइटी की समझ आने लगी। आमरस खाने की आदत लगी। लेकिन इन दिनों मुझे कंट्रोल करना पड़ता है। फिलहाल मुझे सोचना पड़ता है कि इतना खाऊं या न खाऊं।’

ख़िलाड़ी अभिनेता ने मोदी को यह भी याद दिलाया कि जब आप मुख्यमंत्री थे तब मिला था तब मैंने आपको एक-दो चुटकुले सुनाए थे। क्या पीएम बनने के बाद भी आपका वैसा ही ह्यूमर है? बातचीत को और आगे बढ़ते हुए अक्षय ने मोदी से कहा, सुना है आपने अपनी जमा पूंजे के 21 लाख रुपए भी बच्चियों के लिए दान कर दिए थे? इस पर पीएम ने जवाब देते हुए कहा, मैंने अपने सेक्रेटरी की बच्चियों की मदद के लिए गुजरात सरकार को 21 लाख रुपए दिए। सरकार की तरफ से विधायक को कम पैसे में प्लॉट मिलता है। मैंने वह भी पार्टी को ले लेने के लिए कहा।

इस पर अक्षय ने मोदी से पूछा, “क्या आप वास्तव में एक गुजराती हैं?” इसके बाद अक्षय ने हंसते हुए कहा, ‘क्योंकि जो गुजराती होते है वो अपने पैसों के लिए सही रहते है और अपने पैसे को बड़ा संभाल कर रखते है।’ अक्षय कुमार ने आगे कहा कि, अगर आप इजाजत दे तो मैं आपको एक छोटा सा चुटकुला सुनान चाहता हूं।

अक्षय चुटकुला सुनाते हुए कहते है, एक गुजराती बुजुर्ग आदमी मर रहा होता है। तो पूछता है मेरा लड़का कहां है? बेटा कहता है- मैं यहां हूं। बुजुर्ग पूछता है- मेरी बेटी कहां है? वह कहती है- मैं यहां हूं। मेरी बीवी कहां है? वह कहती है- मैं यहां हूं। तो बुजुर्ग व्यक्ति अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहता है, “यदि आप सभी यहां मेरे साथ हैं, तो दुकान की देखभाल कौन कर रहा है?”

जवाब में मोदी ने भी चुटकुले सुनाने का फैसला किया। पीएम ने कहा कि हमारे यहां एक चुटकुला चलता है, एक बार स्टेशन पर एक ट्रेन आयी तो ऊपर लेटे हुए एक यात्री ने खिड़की से बाहर छांककर पूछा की कौन सा स्टेशन आया है? तो बताने वाले ने कहा की 4 आना दोगे तो बताऊंगा, वो यात्री बोला भाई बताने की जरुरत नहीं है मैं समझ गया अहमदाबाद आ गया है। इसके बाद दोनों हंसी में फूट पड़े।

प्रधानमंत्री ने एक समाजवादी नेताओं पर भी एक चुटकुला सुनाया। उन्होंने कहा, ‘बहुत साल पहले एक बार मैं पुणे स्टेशन पर उतरा और आरएसएस कार्यालय की ओर चलना शुरू किया। मैं पैदल चला जा रहा था, मैंने देखा कि एक ऑटो रिक्शा वाला धीरे-धीरे से मेरे बगल में जा रहा है। मैंने उससे पूछा तो वो बोला, आप बैठोगे नहीं क्या। आप समाजवादी नहीं हो? मैंने कहा नहीं मैं तो अहमदाबादी हूं। समाजवादी लोग दुनिया को दिखाने के लिए स्टेशन से उतरकर रिक्शा नहीं लेते थे, थोड़ी दूर जाकर लेते थे, ताकि लोगों को लगे कि मेहनत करते हैं।’

हालांकि, पीएम मोदी के इस मजाक पर अक्षय को हंसी नहीं आई। इसके बाद अक्षय ने पीएम मोदी से कहा कि आइए आगे कि बात को थोड़ा चलकर बात करते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here