इस बड़े नेता ने पीएम मोदी को बताया फेल, कहा- अब देश को नए प्रधानमंत्री की जरूरत

0

समाजवादी पार्टी (एसपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार (17 जुलाई) को यूपी के आगरा में बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी को फेल बताते हुए कहा कि अब देश को नए प्रधानमंत्री की जरूरत है। अखिलेश ने कहा कि बीजेपी बताए कि उसका प्रधानमंत्री पद का दूसरा चेहरा कौन है, क्योंकि देश बदलाव चाहता है।

(PTI File Photo)

इस दौरान अखिलेश ने प्रधानमंत्री की ताबड़तोड़ रैलियों पर भी अखिलेश ने तंज कसा। सपा प्रमुख ने कहा, ‘लोकसभा चुनाव की तारीख घोषित हो जाए तो हम भी चुनाव की तैयारियों में लग जाएं। बीजेपी तो अकेले ही चुनावी सभाएं कर रही है।’ अखिलेश एसपी नेता रामजी लाल सुमन की पत्नी के निधन पर संवेदना व्यक्त करने उनके आवास पहुंचे थे। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी धर्म और जाति की राजनीति करती है। इन्हें कोई बताए कि देश को विकास की जरूरत है, धर्म और जाति की राजनीति की नहीं।

समचाार एजेंसी IANS के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बारे में मोदी के बयान पर अखिलेश ने राहुल को भारतीय बताया और कहा, ‘मेरा दावा है कि राहुल गांधी हिंदू हैं, बीजेपी के नेता बताएं कि वे हिंदू हैं या नहीं।’ एसपी प्रमुख ने कहा कि गठबंधन को तोड़ने के लिए बीजेपी सियासी चाल चल रही है, लेकिन सफल नहीं होगी। एसपी-बीएसपी का गठबंधन तो शुरुआत है, अभी तो पूरे देश में गठबंधन होगा। गठबंधन के अच्छे परिणाम आएंगे।

अखिलेश ने कहा, ‘बीएसपी से हमारा गठबंधन कितना मजबूत है, यह तो बीजेपी की भाषा बता रही है। उत्तर प्रदेश की जनता ने बीजेपी को नंबर देना शुरू कर दिया है। फूलपुर, गोरखपुर और कैराना के उपचुनाव में जनता ने बीजेपी को नंबर दे दिए हैं। कम से कम इन हार से तो बीजेपी थोड़ा सबक ले ले। जनता की ओर तो इनका जरा सा भी ध्यान ही नहीं है।’

बीएसपी के साथ सीटों के बंटवारे पर अखिलेश ने कहा कि यह गठबंधन का आंतरिक मामला है। राष्ट्रीय स्तर पर गठबंधन होने पर प्रधानमंत्री का चेहरा कौन होगा? इस सवाल पर अखिलेश ने कहा कि यह चुनाव से पहले या बाद में तय कर लिया जाएगा। समय आने पर गठबंधन अपना नेता चुनेगा। उन्होंने कहा कि समाजवादियों की जिम्मेदारी है कि वह नया प्रधानमंत्री बनाने में सहयोग करें। एसपी प्रमुख ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को ध्वस्त बताते हुए कहा कि शायद ही कोई ऐसा दिन हो, जब एक दर्जन से ज्यादा हत्याएं और दुष्कर्म की घटनाएं न हो रही हों।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here