बिना तैयारी के अभी तो पैसा फंसाया है, आने वाले समय में हो सकता है भाजपा देश को फंसा दे : अखिलेश यादव

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 500 और हजार रुपये के नोट बंद किए जाने के बाद किसानों और मजदूरों को हो रही दिक्कतों को लेकर केन्द्र सरकार को एक बार फिर घेरते हुए कहा कि देश को बिना तैयारी के सबकुछ बदल डाले जाने का खामियाजा अर्थव्यवस्था के पिछड़ने के रूप में भुगतना पड़ेगा।

मुख्यमंत्री ने राज्य मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि केन्द्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बिना तैयारी के बड़े करंसी नोट का चलन बंद कर देश के गरीबों, किसानों और मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा कर दिया है। हालात सामान्य होने में छह महीने से साल भर का समय लगेगा तब तक गरीबों का क्या हाल होगा।

Also Read:  सुदर्शन न्यूज़ से डरी पाकिस्तानी सेना, वजह जानकर आप भी नहीं रोक पाएंगे अपनी हंसी

उन्होंने कहा ‘‘सोचिए अगर किसान बर्बाद हो गया तो अर्थव्यवस्था के तमाम आंकड़े पीछे हो जाएंगे रोजगार पर सबसे पहले असर पड़ेगा।

Akhilesh Yadav

अब तो पूरा देश यह कह रहा है कि सरकार ने बिना तैयारी के सबकुछ बदल दिया अगर आप (भाजपा) पर भरोसा कर लिया और पड़ोसी देशों से कुछ मामला बन गया और आपकी तैयारी नहीं होगी।

Also Read:  मुसलमानों के पाकिस्तान जाने की बात पर पहलू खान के बेटे ने कहा- मैं इस देश में पैदा हुआ था और इस देश का हूं

अभी तो पैसे में फंसाया है, आने वाले समय में हो सकता है कि आप (भाजपा) देश को फंसा दें। आपकी तैयारी नहीं होगी तो देश के सामने संकट पैदा होगा।’

भाषा की खबर के अनुसार, अखिलेश ने कहा कि यह कोई प्राकृतिक आपदा नहीं, बल्कि सरकार का बनाया संकट है। सबसे ज्यादा परेशानी किसानों के सामने आई है।

Also Read:  चैक के जरिये और अन्य वेतन भुगतान के लिये अध्यादेश ला सकती है सरकार

जब किसान को उम्मीद थी कि पानी अच्छा बरस गया है और अच्छा बीज मिल गया है, तो अच्छी फसल होगी, लेकिन केन्द्र के इस कदम ने उन्हें सदमा दे दिया है। केन्द्र सरकार अगर पैसा नहीं दे सकती तो कम से कम सहकारी बैंकों की मदद करे, ताकि किसानों को फसल बुवाई तथा अन्य कृषि कार्यो के लिए धन मिल सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here