सब्सिडी समाप्त होने के बाद हज यात्रा हवाई किराए में 97,000 रुपये की भारी कमी

0

इस साल 2018 में हज यात्रा में सरकारी सब्सिडी समाप्त करने के बाद सरकार ने भारतीय हज यात्रियों के लिए किराए में भारी कमी की है। यह कमी अगल-अलग स्थानों के लिए 15 से 45 प्रतिशत तक की गई है। हज श्रद्धालुओं को करीब 20,000 रुपये से लेकर 97,000 रुपये तक की भारी बचत होगी। इसमें सबसे ज्यादा फायदा जम्मू-कश्मीर के हज यात्रियों को होगा। समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार (27 फरवरी) को कहा कि, ‘हज 2018 जहां एक तरफ बिना सरकारी सब्सिडी के होगा, वहीं बहुत समय बाद हज यात्रा के लिए हवाई किराया सबसे सस्ता होगा। इस बार हज यात्रा किराया दिसंबर 2013 में हज 2014 के लिए निर्धारित किराए की तुलना में काफी कम होगा।’

इस बार हज यात्रा के लिए कश्मीर के यात्रियों को दिल्ली से भी जाने का विकल्प दिया गया है। वहीं इंदौर के हज यात्री भोपाल और मुम्बई के रास्ते हज यात्रा पर जा रहे हैं। मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, दिसंबर 2013 में यूपीए सरकार द्वारा हज 2014 के लिए घोषित मुम्बई से हज यात्रा का हवाई किराया 98,750 रुपये था जो अब घट कर 57,857 रुपये हो गया है।

जम्मू-कश्मीर के हज यात्रियों को करीब 97,000 रुपये का फायदा होगा। श्रीनगर से किराया 2013-14 में 1,98,350 रुपये था, जो अब घटाकर 1,01,400 रुपये हो गया है। अहमदाबाद का किराया 98,750 रुपये से घटकर 2018 में 65,015 रुपये कर दिया गया है, जबकि औरंगाबाद का किराया 2013-14 में 1,18,450 रुपये से घटाकर 84,946 रुपये कर दिया गया है।

दिसंबर 2013 में यूपीए सरकार द्वारा हज 2014 के लिए घोषित बेंगलूरू से हज यात्रा का हवाई किराया 1,04,950 रुपये था, जो अब घटकर 82,419 रुपये हो गया है। भोपाल का किराया 1,27,750 रुपये से घटकर 2018 में 91,090 रुपये कर दिया गया है, जबकि कोच्चि का किराया 2013-14 में 1,04,950 रुपये से घटाकर 74,431 रुपये कर दिया गया है।

वहीं, गया से हज यात्रा का किराया 1,46,500 रुपये था जो अब घटकर 98,852 रूपया हो गया है जबकि चेन्नई से किराया 1,05,000 रुपये था जो अब 77,181 रूपया हो गया है। गोवा से किराया 2013-14 में 1,27,450 रुपये था जो 2018 में 82,730 रुपये कर दिया गया है। मेंगलूर से किराया पहले 1,45,250 रुपये था जो 2018 में घटाकर 84,280 रुपये कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से हज यात्रा का किराया 1,12,300 रुपये से घटाकर 2018 में 92,004 रुपये हो गया है। कोलकाता से हज यात्रा का किराया 2013..14 में 1,12,450 रुपये था जो 2018 में 89,589 रुपये कर दिया गया है। लखनऊ से किराया पहले 1,06,750 रुपये था जो 2018 में घटाकर 78,933 रुपये कर दिया गया है जबकि नागपुर से किराया 1,16,950 रुपये से घटाकर अब 70,680 रुपये हो गया है।

नकवी ने कहा कि मोदी सरकार लगातार दूसरे साल भी भारत के हज कोटे में बढ़ोत्तरी करने में सफल हुई और आजादी के बाद पहली बार भारत से साल 2018 में रिकार्ड 1,75,025 हज यात्री जाएंगे। इस वर्ष हज यात्रा एयर इंडिया, सऊदी एयरलाइन्स और फ्लाइनास के माध्यम से होगी। एयरइंडिया के लिए चेन्नई, गोवा, नागुपर, श्रीनगर, कोलकाता, मुम्बई को केंद्र बनाया गया है, जबकि सऊदी एयरलाइन्स के लिए अहमदाबाद, बेंगलूर, कोच्चि, दिल्ली, हैदराबाद, जयपुर तथा फ्लाइनास के लिए औरंगाबाद, भोपाल, मेंगलूर, गया, गुवाहाटी, रांची को केंद्र बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here