शराब पीकर प्लेन उड़ाने की कोशिश करने वाले एयर इंडिया के पायलट का 3 साल के लिए लाइसेंस सस्पेंड

0

एयर इंडिया ने उड़ान से पहले अल्कोहल टेस्ट में फेल रहने वाले एयर इंडिया के सीनियर पायलट अरविंद कठपालिया का लाइसेंस तीन साल के लिए निलंबित कर दिया गया है। आपको बता दें कि एयर इंडिया के सीनियर पायलट कैप्टन अरविंद कठपालिया को रविवार को इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (आईजीआई) पर उड़ान से पहले ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया।

इसके चलते एयर इंडिया द्वारा अरविंद को प्लेन से उतार दिया गया। वह एयर इंडिया की दिल्ली-लंदन फ्लाइट उड़ाने जा रहे थे। इसके बाद दूसरे पायलट के जरिए फ्लाइट को रवाना किया गया। कठपलिया एयर इंडिया बोर्ड के सदस्य (निदेशक-ऑपरेशंस) भी हैं। इस बीच सोमवार (12 नवंबर) को भारतीय विमानन नियामक डीजीसीए ने बताया कि अरविंद का लाइसेंस अगले तीन साल की अवधि के लिए निलंबित कर दिया गया है।

अरविंद दिल्ली से लंदन की फ्लाइट ले जाने वाले थे। लेकिन उससे पहले ही जांच में पाया गया कि अरविंद कथपालिया नशे में थे और इसलिए एयर इंडिया द्वारा फ्लाइट ले जाने की अनुमति नहीं दी गई। अधिकारी ने कहा कि हमने कैप्टन कठपलिया को उड़ान भरने से रोक दिया क्योंकि वह दो बार ब्रेथ एनालाइजर टेस्टण में फेल रहे थे। उन्हें नई दिल्ली से लंदन की उड़ान लेकर जानी थी, लेकिन वह उड़ान से पहले अल्कोहल टेस्ट में फेल रहे।

अधिकारी ने कहा कि उन्हें एक और मौका दिया गया लेकिन दूसरा टेस्ट भी पॉजिटिव पाया गया जिसके बाद उन्हें उड़ान पर जाने से रोक दिया गया। इंडियन कमर्शल पायलट्स एसोसिएशन ने सिविल एविएशन मिनिस्ट्री को पत्र लिखकर पायलट के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी।

ICPA के मुताबिक 19 जनवरी 2017 को भी उन्हें BA टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया था। इस मामले में DGCA को जानकारी दे दी गई है। इसी बीच दिल्ली से बैंकॉक जाने वाली एक फ्लाइट को भी वापस लौटा लिया गया, क्योंकि पायलट का बीए टेस्ट नहीं हो पाया था। इसके बाद उनका लाइसेंस तीन महीने के लिए निलंबित कर दिया गया था। साथ ही उस समय ब्लड सेंपल न देने तथा जांच में बाधा पैदा करने के कारण उनके विरुद्ध एफआइआर भी दर्ज की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here