अयोध्या के बाद अब गुजरात सरकार करेगी अहमदाबाद का नाम कर्णावती?

0

गुजरात की भाजपा सरकार ने अहमदाबाद का नाम बदल कर कर्णावती करने का मन बना लिया है। गांधीनगर में पत्रकारों से बात करते हुए राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा और क़ानूनी प्रक्रिया कोई बाधा न डाले तो उनकी सरकार को अहमदाबाद का नाम बदल कर कर्णावती करने से कोई परहेज़ नहीं होगा।

उनका ये बयान ठीक उसी दिन आया जब उत्तर प्रदेश की हिंदूवादी मुख्यमंत्री और भाजपा नेता योगी आदित्यनाथ ने फैज़ाबाद का नाम बदलकर अयोध्या करने की घोषणा की थी। इससे पहले आदित्यनाथ ने इलाहाबाद का नाम बदल कर प्रयागराज कर दिया था।

दरअसल अगले साल लोक सभा चुनाव है और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की पूरी विफलता ने भाजपा को हिंदुत्व के अजेंडे पर चलने केलिए मजबूर कर दिया है। पार्टी को लगता है कि हिंदुत्व के अजेंडे के बल पर वो हिन्दुओं को अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब हो जायेगी।

अहमदाबाद की स्थापना सबसे पहले 11वीं सदी में हुई थी जब इसे आशावल के नाम से जाना जाता था। चालुक्य साम्राज्य के शासक, अन्हिलवाड़ा के कर्ण, आशावल के भील शासक को पराजित कर साबरमती नदी के किनारे कर्णावती की स्थापना की थी। 1411 में सुल्तान अहमद शाह ने कर्णावती के नज़दीक अहमदाबाद शहर की स्थापना की थी जो चारों ओर से दीवारों से घिरा था। शहर का नाम उस समय वहां मौजूद चार संत, जिन्हे अहमद के नाम से जाना जाता था, के नाम पर अहमदाबाद रखा गया था।

अहमदाबाद भारत का पहला शहर है जिसे विश्व धरोहर स्थल का दर्जा प्रपात है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here