प्रवासी मजदूरों के बाद अब पुलिसकर्मियों की मदद के लिए आगे आए सोनू सूद, दान की 25,000 फेस शील्ड

0

घातक कोरोना वायरस के कारण लागू हुए लॉकडाउन के दौरान बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक भेजने के लिए हर संभव प्रयास किया और इस काम के लिए उनकी जमकर तारीफ भी हुई। सोनू सूद अभी भी कोरोना की इस मुश्किल घड़ी में लोगों की मदद करने में पीछे नहीं हट रहे हैं। प्रवासी मजदूरों की मदद करने के बाद सोनू सूद अब महाराष्ट्र पुलिस की मदद को आगे आए हैं।

सोनू सूद

दरअसल, सोनू सूद ने महाराष्ट्र में पुलिसकर्मियों के लिए 25,000 फेस शील्ड दी हैं, ताकि वे कोरोना से बच सकें। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इसकी जानकारी सोशल मीडिया पर दी है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने ट्विटर पर सोनू संग तस्वीर शेयर करते हुए उन्हें इसके लिए धन्यवाद बोला है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘हमारे पुलिसकर्मियों के लिए 25 हजार फेसशील्ड्स देने के उदार सहयोग के लिए धन्यवाद सोनू सूद जी।’ देशमुख ने सोनू के साथ एक अन्य तस्वीर भी शेयर की है जिसमें वह सोनू के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दूर बैठे हुए हैं।

देशमुख के ट्वीट के जवाब में सोनू ने लिखा, ‘सर, आपके उदार शब्दों को सुन काफी सम्मानित महसूस कर रहा हूं। हमारे पुलिस में काम करने वाले भाई-बहन वास्तव में हीरो हैं और उनके इस तारीफ के काबिल काम के लिए इतना तो मैं कर ही सकता हूं। जय हिंद।’

गौरतलब है कि,कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए लागू किए गए लॉकडाउन के बाद से घर लौटने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए अभिनेता सोनू सूद मसीहा बनकर सामने आए है। सिर्फ प्रवासी मजदूर ही नहीं बल्कि मुंबई में रहने वाले छात्रों के लिए भी सोनू सूद किसी फरिश्ते से कम साबित नहीं हुए है। वह मुंबई से प्रवासियों को बस के माध्यम से घर पहुंचाने में लगातार मदद कर रहे हैं। इसके साथ ही वह अपने ट्विटर हैंडल से जरूरतमंद लोगों को लगातार रिप्लाई भी कर रहे हैं। सोशल मीडिया यूजर्स समेत कई लोग इस सराहनीय कार्य के लिए सोनू सूद की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

बता दें कि, कोरोना वायरस के दौरान किए अपने काम पर सोनू सूद ने एक किताब लिखने का भी फैसला किया है। अभी तक इस किताब का नाम नहीं रखा गया है। इस किताब में लोगों की मदद करने और लोगों की इस यात्रा के भावनात्मक पहलुओं के साथ-साथ चुनौतीपूर्ण क्षणों का भी जिक्र होगा। पब्लिकेशन पेंग्विन रेंडम हाउस इंडिया ने बताया कि यह किताब इस साल के अंत तक प्रकाशित होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here