मानहानि केस: मजीठिया के बाद अब केजरीवाल ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल से भी मांगी माफी

0

मानहानि केस में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल द्वारा शिरोमणि अकाली दल के महासचिव व पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से मांफी मांगने पर आम आदमी पार्टी (AAP) में घमासान जारी है। हालात यह है कि एक के बाद AAP में इस्तीफों की झड़ी लग गई है। AAP में जारी घमासान के बीच केजरीवाल ने अब केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से भी माफी मांग ली है। इसके अलावा केजरीवाल ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल और उनके बेटे अमित सिब्बल से भी माफी मांगी है।

File Photo: Getty Images

इन दोनों नेताओं ने अरविंद केजरीवाल पर मानहानि केस किए हुए थे। बताया जा रहा है कि दोनों ही नेता अब केस वापस ले रहे हैं। आपको बता दें कि मजीठिया से केजरीवाल पहले ही माफी मांग चुके हैं और उन्‍हें माफी मिल भी चुकी है।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गडकरी को पत्र लिखकर अपने बयान के लिए खेद जताया और केस बंद करने का आग्रह किया है। जिसके बाद दोनों नेताओं ने आपसी सहमति से केस बंद करने के लिए कोर्ट में अर्जी दे दी है।

केजरीवाल ने गडकरी को 16 मार्च को पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने लिखा है, ‘हम दोनों अलग-अलग पार्टियों में हैं। मैंने आपके बारे में बिना जांचे कुछ आरोप लगाए, जिससे आपको दुख हुआ होगा, इसलिए आपने मेरे खिलाफ मानहानि का केस दायर किया। मुझे आपसे निजी तौर पर कोई दिक्कत नहीं है, इसलिए मैं आपसे माफी मांगता हूं।’

बता दें कि केजरीवाल ने भारत के सर्वाधिक भ्रष्ट लोगों की सूची में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के शामिल होने की बात कही थी। इस टिप्पणी से नाराज होकर गडकरी ने उन पर मानहानि का केस दायर कर दिया था। गौरतलब है कि हाल ही में केजरीवाल ने अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगी थी जिसके बाद पंजाब से लेकर दिल्ली तक हड़कंप मच गया था। ये हंगामा अभी थमा नहीं था कि मुख्यमंत्री ने गडकरी और सिब्बल से भी माफी मांग ली है।

इतना ही नहीं केजरीवाल ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल और उनके बेटे अमित सिब्बल से भी माफी मांग ली है। बता दें कि केजरीवाल ने 2013 में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित सिब्बल पर ‘निजी लाभ के लिए शक्तियों के दुरुपयोग’ का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि वह ऐसे समय में एक दूरसंचार कंपनी की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए, जब उनके पिता कपिल सिब्बल केंद्रीय संचार मंत्री थे। फिलहाल केजरीवाल पर दिल्ली की एक अदालत में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के कारण भी मानहानि का केस चल रहा है।

माफी मांगने पर AAP में घमासान

बता दें कि केजरीवाल द्वारा बिक्रम मजीठिया से लिखित में माफी मांगने के मामले पर आम आदमी पार्टी की पंजाब इकाई में खासी नाराजगी है। हालात यह है कि एक के बाद AAP के नेताओं द्वारा पार्टी से इस्तीफों की झड़ी लग गई है।AAP के पंजाब प्रभारी और लोकसभा सांसद भगवंत मान ने प्रदेश अध्यक्ष पद और उपाध्यक्ष अमन अरोड़ा ने अपना पद छोड़ दिया है। उधर, AAP के साथ गठबंधन में शामिल लोक इंसाफ पार्टी ने भी अब बगावती तेवर अपना लिए हैं। इस मुद्दे पर पार्टी के दोनों विधायकों (बैंस बंधुओं) ने खुद को गठबंधन से अलग कर लिया है।

केजरीवाल ने मजीठिया से मांगी माफी

बता दें कि AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल ने शिरोमणि अकाली दल के महासचिव व पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया को ड्रग्स तस्कर बताने के अपने बयान को वापस लेते हुए उनसे लिखित में माफी मांग ली है। गौरतलब है कि पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान केजरीवाल ने हर चुनावी मंच से मजीठिया को ड्रग्स तस्कर बताया था। जिसके बाद मजीठिया ने अमृतसर कोर्ट में केजरीवाल, संजय सिंह और आशीष खेतान पर मानहानि का केस ठोका। इसमें तीनों नेताओं को जमानत लेनी पड़ी थी।

अपने माफीनामे में केजरीवाल ने लिखा है कि मैंने पहले कई बार आप (ब्रिकम मजीठिया) पर ड्रग सप्लाई में शामिल होने के आरोप लगाए। अब मुझे पता चला है कि यह आरोप बेबुनियाद है। इसीलिए मैं अपने सभी बयान और आरोप वापस लेता हूं। आपके परिवार, दोस्तों और उनके शुभचिंतकों के सम्मान को पहुंची चोट के लिए भी माफी मांगता हूं। इसके लिए मुझे खेद भी है। मेरी गुजारिश है कि कोर्ट में चल रहा केस वापस ले लें।

गुरुवार (15 मार्च) शाम को मजीठिया ने केजरीवाल का माफीनामा ट्वीट किया। मजीठिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर लिखा, ‘मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुझसे उन सभी निराधार और झूठे आरोपों के लिए कोर्ट में माफी मांगी है जो उन्होंने और उनकी पार्टी ने मुझपर ड्रग को लेकर लगाए थे। इन आरोपों के कारण मेरी मां को काफी तकलीफ पहुंची थी और यह माफी उनका वाहेगुरु के न्याय में अटूट विश्वास का प्रमाण है।’

जेटली से भी मांगेंगे माफी?

इस बीच बताया जा रहा है कि केजरीवाल केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से भी जल्द ही माफी मांग सकते हैं। बता दें कि जेटली ने केजरीवाल समेत AAP के पांच नेताओं पर दो केस कर 10-10 करोड़ के मुआवजे की मांग की है। केजरीवाल पर उत्तर प्रदेश, पंजाब, असम, महाराष्ट्र, गोवा में भी मानहानि व चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के कई मामले दर्ज हैं। पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज का कहना है कि ये मुकदमे हमें कानूनी मामलों में उलझाए रखने के लिए दर्ज कराए गए हैं। इन सभी मामलों को आपसी सहमति से सुलझाने पर विचार चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here