आलोचना झेल रहे अनुराग कश्यप ने कहा, ‘मैं अंधे कट्टरपंथियों के डर के साए में जीने से इनकार करता हूं, जिनका मानना है कि प्रधानमंत्री से सवाल नहीं कर सकते’

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार से कुछ भी सवाल पूछना इस नए भाऱत में आसान नहीं है। मोदी सरकार के डर और उत्पीड़न के माहौल में, फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप ने राष्ट्रवाद की आड़ में करण जौहर की ऐ दिल है मुश्किल और शाहरुख खान के रईस पर लगाए गए बैन पर मोदी की चुप्पी पर सवाल उठा कर ट्वीट किया था जिसके बाद उन्हे सोशल मीडिया पर आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है।

लेकिन अब अनुराग ने एक ट्वीट किया है जिसमें उनका कहना है कि देश के प्रधानमंत्री से सवाल करना उनका अधिकार है।

ये भी पढ़े-‘ऐ दिल है मुश्किल’ बैन पर अनुराग कश्यप ने मोदी को लिया आड़े हाथ, कहा- पाकिस्तान यात्रा के लिए क्यों नहीं मांगी माफी?

लोगों को अनुराग द्वारा इस तरह प्रधानमंत्री से सवाल किया जाना अच्छा नहीं लगा और वे उनकी आलोचना करने लगे।अपने ट्वीट को तर्कसंगत साबित करने के लिए फिल्मकार ने कहा, “मैं इस बात को स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मैं इसलिए शिकायत कर रहा हूं, क्योंकि मैं अपनी सरकार से अपनी सुरक्षा की उम्मीद करता हूं। मैं प्रधानमंत्री से इसलिए सवाल कर रहा हूं, क्योंकि मुझे इसका अधिकार है।”
पढ़िए अनुराग कश्यप के ट्वीटस-

फिल्मकार ने कहा, “मैं एक ऐसी पार्टी (आयोजन) को संबोधित नहीं करूंगा, जो अनावश्यक और अप्रासंगिक हो और जहां फिल्म जगत के खिलाफ जाने की कोशिश हो रही हो हर कोई अपने लिए हमारा इस्तेमाल कर रहा है और हमें इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।”

अनुराग ने कहा, “दो देशों के बीच एक सही व्यापार को किसी भी प्रकार के विरोध का सामना नहीं करना चाहिए, क्योंकि हमें इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है.” ‘देव डी’ और ‘गुलाल’ जैसी फिल्मों का निर्देशन करने वाले अनुराग ने कहा, “देश के लिए जो मेरे प्यार पर गुस्सा कर सवाल खड़े कर रहा है, उसे या तो सीमा पर या किसी भी सम्मानजनक तौर पर भारत के प्रति अपने प्यार को साबित करना चाहिए. सोशल मीडिया पर चिल्लाकर नहीं।”

अनुराग ने कहा, “मोदी जी, हां हमें सुरक्षा चाहिएअब समय आ गया है। मैं अंधे कट्टरपंथियों के डर के साए में जीने से इनकार करता हूं, जिनका मानना है कि आप प्रधानमंत्री से सवाल नहीं कर सकते या उनसे किसी चीज की उम्मीद नहीं कर सकते.”

Also Read:  PM Modi 'violated' Supreme Court order during two-year gala celebrations: RTI reply

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here