मशहूर अभिनेता कादर खान का निधन, कनाडा के अस्पताल में ली अंतिम सांस

0

वर्ष 2019 की शुरुआत एक बहुत बुरी खबर से हुई है। पिछले काफी दिनों से बीमार चल रहे बॉलीवुड के मशहूर कॉमेडियन, ऐक्टर और राइटर कादर खान का निधन हो गया है। 81 साल के कादर खान के निधन से बॉलीवुड ने एक बेहतरीन एक्टर को खो दिया। कनाडा के एक अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। 81 वर्षीय खान लंबे समय से बीमार चल रहे थे।

हालत
फाइल फोटो: बॉलीवुड एक्टर कादर खान

खान के बेटे ने बताया कि अभिनेता का अंतिम संस्कार भी वहीं किया जाएगा। खान के बेटे सरफराज ने ‘पीटीआई’ से कहा, ‘‘मेरे पिता हमें छोड़कर चले गए। लंबी बीमारी के बाद 31 दिसंबर शाम छह बजे (कनाडाई समय) उनका निधन हो गया। वह दोपहर को कोमा में चले गए थे। वह पिछले 16-17 हफ्तों से अस्पताल में भर्ती थे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उनका अंतिम संस्कार कनाडा में ही किया जाएगा। हमारा सारा परिवार यहीं हैं और हम यहीं रहते हैं इसलिए हम ऐसा कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम दुआओं और प्रार्थना के लिए सभी का शुक्रिया अदा करते हैं।’’ 81 वर्षीय अभिनेता को सांस लेने में समस्या हो रही थी।

डॉक्टरों ने उन्हें कथित तौर पर नियमित वेंटिलेटर से बाइपैप वेंटिलेटर पर स्थानांतरित कर दिया था। मीडिया की खबरों के मुताबिक, खान प्रोग्रेसिव सुपरन्यूक्लियर पाल्सी से पीड़ित थे, जिस बीमारी से व्यक्ति का शारीरिक संतुलन खोने लगता है। इसकी वजह से उठने, बैठने, चलने और बात करने में दिक्कत होती है। साथ ही व्यक्ति भूलने भी लगता है।

खान के साथ “दो और दो पाँच”, “मुकद्दर का सिकंदर”, “मिस्टर नटवरलाल”, “सुहाग”, “कुली’’ और “शहंशाह “जैसी फिल्मों में काम करने वाले महानायक अमिताभ बच्चन सहित देश भर में मौजूद उनके फैंस ने शुक्रवार को उनकी मौत की अफवाह फैलने के बाद ट्विटर पर अनुभवी अभिनेता की सलामती और स्वस्थ होने की कामना की थी।

काबुल में जन्में खान ने 1973 में राजेश खन्ना की फिल्म ‘‘दाग’’ के साथ फिल्मी दुनिया में पदार्पण किया था। खान ने 300 से अधिक फिल्मों में काम किया है। उन्होंने 250 से ज्यादा फिल्मों के लिए संवाद लिखे हैं। अभिनेता बनने से पहले वह रणधीर कपूर और जया बच्चन की फिल्म ‘‘जवानी दीवानी’’ के लिए संवाद लिख चुके थे।

पटकथा लेखक के तौर पर खान ने मनमोहन देसाई और प्रकाश मेहरा के साथ कई फिल्मों में काम किया। देसाई के साथ उन्होंने “धर्म वीर”, “गंगा जमुना सरस्वती”, “कुली”, “देश प्रेम”, “सुहाग”, “परवरिश” और “अमर अकबर एंथनी” जैसी फिल्में कीं और मेहरा के साथ उन्होंने “ज्वालामुखी”, “शराबी”, “लावारिस”, “मुकद्दर का सिकंदर” जैसी फिल्मों में काम किया है। 90 के दशक में उन्होंने गोविंदा के साथ कई हिट कॉमेडी फिल्मों में काम किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here