ABP न्यूज़ पर कांग्रेस समर्थक होने का आरोप लगाने वाली स्मृति ईरानी को चैनल ने दिया जवाब, एंकर बोली- ‘हताश हैं केंद्रीय मंत्री’

1

लोकसभा के पांचवें चरण में सोमवार को हुए मतदान के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सहित 674 उम्मीदवारों के राजनीतिक भविष्य का फैसला इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) में कैद हो गया। लेकिन सोमवार को पूरे दिन यूपी के अमेठी सीट पर सबकी खासतौर पर नजर बनी रही। बता दें कि यहां से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मैदान में हैं और उन्हें इस बार एक बार फिर केंद्रीय मंत्री और बीजेपी प्रत्याशी स्मृति ईरानी चुनौती दे रही हैं।

मतदान वाले दिन सोमवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समाचार चैनल ABP न्यूज़ के रिपोर्टर द्वारा पूछे गए एक सवाल पर पूरी तरह से भड़क गईं। केंद्रीय मंत्री ने एबीपी न्यूज़ पर बीजेपी विरोधी और कांग्रेस समर्थक होने का आरोप लगाते हुए रिपोर्टर से कहा, “एबीपी न्यूज़ वैसे भी बीजेपी वालों की चिंता नहीं करती, गांधी खानदार (कांग्रेस और राहुल गांधी का परिवार) की करती है।” यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

चैनल ने किया पलटवार

हालांकि, एबीपी न्यूज ने सोमवार रात स्मृति ईरानी के आरोपों पर एक पैकेज चलाकर पटलवार किया। एबीपी न्यूज़ पर कांग्रेस समर्थक होने के आरोपों को लेकर चैनल द्वारा ‘मास्टर स्ट्रोक’ शो के पैकेज के आखिरी में (नीचे दिए गए वीडियो में 5 मिनट के बाद देखें) चैनल द्वारा कहा गया, “स्मृति ईरानी को हमारी यह नसीहत है कि वो सच्चाई स्वीकार करें और हमें अपना काम करने दें।”

वहीं, पैकेज के आखिरी में चैनल की एंकर रुबिका लियाकत ने भी केंद्रीय मंत्री पर निशाना साधते हुए उनकी इस टिप्पणी को ‘हताशा’ करार दिया। रुबिका ने कहा, “इस बार अमेठी में कांटे की टक्कर है, इसलिए स्मृति ईरानी का राहुल गांधी पर निशाना साधना लाजिमी है, लेकिन इस सियासी लड़ाई में मीडिया पर निशाना साधना स्मृति ईरानी की हताशा को दिखा रहा है और खासतौर पर तब जब वह सूचना प्रसारण मंत्रालय जैसा जिम्मेदार मंत्रालय संभाल चुकी हैं।”

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, सोमवार को हुए वोटिंग से एक दिन पहले रविवार को उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने रायबरेली और अमेठी में होने वाले मतदान में गठबंधन के कार्यकतार्ओं से कांग्रेस को समर्थन देने की अपील की थी। इस अपील को लेकर एबीपी न्यूज़ के रिपोर्टर जैनेन्द्र कुमार ने स्मृति ईरानी से पूछा कि मायावती द्वारा राहुल गांधी को की गई मदद से आपको मुश्किल होगा?

इस पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, “अरे…आपको क्यों चिंता हो रही है…मुझे कोई मुश्किल नहीं होगी। एक साधारण व्यक्ति (स्मृति ईरानी) एक नामदार निक्कमें (राहुल गांधी) को चुनौती दे सकता है इस देश में… यह प्रमाणित हो गया है अमेठी में…। और आप मेरी चिंता मत करिए…मेरी चिंता अमेठी की जनता कर रही है। एबीपी न्यूज़ वैसे भी बीजेपी वालों की चिंता नहीं करती, गांधी खानदान (कांग्रेस और राहुल गांधी का परिवार) की करती है।”

केंद्रीय मंत्री के इस आरोपों पर रिपोर्टर ने कहा, “मैम… मैं आपके इस बात को खारिज करता हूं। आप सूचना प्रसारण मंत्री रही हैं मैम…आप एक जिम्मेदार मंत्री हैं…जिम्मेदार नेता हैं…ये आप गैरजिम्मेदारी से बोल रही हैं।” इस पर स्मृति ईरानी ने कहा, “आप मुझे ये आरोप नहीं लगा सकते हैं…मैं बिल्कुल गैरजिम्मेदारी से नहीं बोल रही हूं भाई साहब…आपका चैनल उस चैनल का हिस्सा था जब मैं भी उस चैनल में काम करती थीं।” बाद में रिपोर्टर ने चैनल के मुद्दे से हटने की कोशिश की, जिस पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, “बेटा ऐसा है जब जवाब कड़वा हो तो थोड़ा सा तो निगल लो।”

देखिए, लोगों की प्रतिक्रियाएं:

1 COMMENT

  1. गोदी मीडिया बी जे पी वालों को, वो भी एक केन्द्रीय मंत्री को, उलटा जवाब दे रहा है?
    मतलब बी जे पी पक्का हार रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here