इस साल मध्य प्रदेश में शिव ‘राज’ का हो सकता है अंत! कांग्रेस बहुमत के साथ बना सकती है सरकार

0

मध्य प्रदेश में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में सत्ताधारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के लिए बहुत ही बुरी खबर है। एबीपी न्यूज और सीवोटर द्वारा कराए सर्वे के मुताबिक, कांग्रेस मध्य प्रदेश में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बना सकती है। सर्वे की मानें तो इन एमपी में बीजेपी की बहुत बड़ी हार हो सकती है। सर्वे के नतीजे चुनावी परिणाम के रूप में भी सामने आते हैं तो लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी के लिए यह बहुत बड़ा झटका साबित हो सकता है।

एबीपी के C VOTER सर्वे के मुताबिक, मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 40 प्रतिशत और कांग्रेस को 42 फीसदी वोट मिलने की संभावना जताई जा रही है। वहीं अन्य को 18 प्रतिशत वोट मिलने का अनुमान है। अगर सीटों की बात करें तो सर्वे के मुताबिक मध्य प्रदेश में कांग्रेस की बहुमत के साथ सरकार बन सकती है। कांग्रेस को 117, बीजेपी को 106 सीटें मिल सकती हैं। जबकि अन्य के हिस्से सात सीटें मिलती दिख रही हैं।

2013 के नतीजों के आधार पर देखें बीजेपी को 59 सीटों का नुकसान हो रहा है और सारा का सारा फायदा कांग्रेस को होने का अनुमान है। हालांकि, लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 46 फीसदी, कांग्रेस को 39 प्रतिशत और अन्य को 15 प्रतिशत वोट मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। सर्वे के मुताबिक मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के रूप में शिवराज सिंह चौहान लोगों की पहली पसंद बने हुए हैं।

शिवराज को 42 प्रतिशत तो कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया को 30 प्रतिशत लोग अपनी पसंद बता रहे हैं। वहीं कमलनाथ को सीएम के रूप में महज 7 प्रतिशत लोग अपनी पसंद बता रहे हैं। वहीं राज्य में प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी 54 प्रतिशत लोगों की पंसद बने हुए हैं और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को 25 फीसदी लोग प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं।

स्थानीय चुनावों में कांग्रेस की बड़ी जीत

बता दें कि विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अभी हाल ही में हुए नगरपालिका और नगर पंचायत के उपचुनाव चुनावों में सत्ताधारी पार्टी की हार हुई है, जबकि विपक्षी पार्टी कांग्रेस का जलवा देखने को मिला है। मध्यप्रदेश के 14 नगरीय निकायों में एक-एक वार्ड में पार्षद पद के लिए उपचुनाव में तीन जुलाई को हुए मतदान के परिणाम मंगलवार (7 अगस्त) को घोषित कर दिए गए।

इनमें 9 स्थानों पर कांग्रेस तथा चार स्थानों पर बीजेपी तथा एक स्थान पर निर्दलीय उम्मीदवार को जीत मिली है। मालूम हो कि इस साल ही अंत में प्रदेश में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं। आधिकारिक तौर पर बताया गया कि प्रदेश में 14 नगरीय निकायों में उपचुनाव के तहत एक-एक वार्ड के पार्षद पद के लिए तीन जुलाई को हुए मतदान के परिणाम मंगलवार को घोषित किए गए।

मीडिया रिपोर्ट्स में आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा गया कि राज्य में 14 नगरपालिकाओं में पार्षद पद के लिए हुए उपचुनाव में बीजेपी की करारी हार हुई है। जबकि कांग्रेस के सबसे ज्यादा उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है। राज्य के 14 स्थानों पर हुए पार्षदों के उपचुनाव में कुल 14 सीटों में से 9 पर कांग्रेस, 4 पर बीजेपी और 1 पर निर्दलीय ने चुनाव जीते हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here