ट्विटर पर आपस में भिड़ें ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी और BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, जानिए क्या है पूरा मामला

0

हमेशा अपने बयानों के लेकर मीडिया की सुर्खियों में रहने वाले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के बीच माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर भिड़ंत देखने को मिली है। सोशल मीडिया पर हुई इस भिड़ंत में दोनों नेताओं ने एक दूसरे पर निशाना साधा।

कैलाश विजयवर्गीय

दरअसल, पश्चिम बंगाल की डायमंड हार्बर लोकसभा सीट से सांसद अभिषेक बनर्जी ने की और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पश्चिम बंगाल में किसी भी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की चुनौती दी थी। अभिषेक बनर्जी ने एक जनसभा के दौरान मंच से बोलते हुए कहा था कि मैं अमित शाह को चुनौती दे रहा हूं कि पश्चिम बंगाल में किसी भी सीट से चुनाव लड़के दिखाएं, मैं उनको हराऊंगा।

बता दें कि ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस पार्टी ने अपने आधिकारिक पेज पर अभिषेक बनर्जी के इस बयान को शेयर किया है। अभिषेक बनर्जी के इस बयान पर कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर उनपर निशाना साधा। जिसके बाद अभिषेक बनर्जी ने भी अपने अंदाज में कैलाश विजयवर्गीय को जवाब दिया।

टीएमसी के इस ट्वीट पर कैलाश विजयवर्गीय ने अभिषेक बनर्जी को संबोधित करते हुए ट्वीट कर लिखा, “राजनीति में गलत फहमियां लाइलाज होती है! इन्हें मत पालिए श्रीमान अभिषेक बनर्जी। क्योकिं, अपने घर के सामने तो ……… (डेस डेस) भी शेर होता है और तृण तृण का मूल बिखरते देर नहीं लगेगी!” बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय के इस ट्वीट पर अभिषेक बनर्जी ने भी ट्वीट पर तुरंत पलटवार किया।

अभिषेक बनर्जी ने ट्वीट करते हुए लिखा, “बिल्कुल सही कहा आपने, बात जब वफादारी की हो…..(डेस डेस) से बढ़कर कोई नहीं होता।” उन्होंने आगे बंगाली में लिखते हुए कहा, ‘मैं बंगाली में विनती करता हूं क्योंकि यह मेरी मातृ भाषा है, मेरे राज्य की भाषा है कि तुम और दिल्ली के तुम्हारे नेता पहले ये सीख लें कि कैसे बोला और लिखा-पढ़ा जाता है, उसके बाद राज्य में जीत हासिल करने के बारे में सोचना।’ अब देखने वाली बात यह होगी कि कैलाश विजयवर्गीय और अभिषेक बनर्जी के बीच यह ट्विटर वार कहां तक जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here