VIDEO: वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के साथ विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने उड़ाया मिग-21

0

भारतीय वायुसेना के पठानकोट एयरबेस से सोमवार को वायुसेना प्रमुख मार्शल बीएस धनोआ के साथ विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने MIG 21 उड़ाया। अभिनंदन ने पठानकोट एयरबेस से दोपहर में उड़ान भरी और कुछ मिनट की फ्लाइंग के बाद उनका मिग बेस स्टेशन पर लैंड हो गया।

अभिनंदन वर्धमान

बता दें कि विंग कमांडर अभिनंदन ने इसी मिग 21 लड़ाकू विमान से पाकिस्‍तानी एफ-16 मार गिराया था। 27 फरवरी को भारत और पाकिस्तान के बीच हवाई द्वंद्व के दौरान उनका विमान गिरा दिया गया था और विमान में से निकलने के दौरान वह चोटिल हो गए थे।

पाकिस्तान की हिरासत से छूटने के छह महीने बाद सोमवार को इस जाबांज पायलट ने वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के साथ मिग-21 में उड़ान भरी। बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ने और F-16 जैसे अत्याधुनिक लड़ाकू विमान को मार गिराने वाले अभिनंदन को स्वतंत्रता दिवस पर वीर चक्र से सम्मानित किया गया था।

उड़ान के बाद एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने कहा, ‘6 महीने बाद अभिनंदन का वायुसेना में स्वागत है. मिग 21 के स्वार्डन में अभिनंदन का फिर स्वागत है। अभिनंदन के साथ मिग 21 में उड़ान भरना सुखद।’ एयर चीफ मार्शल धनोआ ने कहा, ‘अभिनंदन के साथ मेरे तीन संयोग जुड़े हैं। पहला हम दोनों ने युद्ध के दौरान इजेक्ट किया था। सन 88 में मैंने भी विमान से इजेक्ट किया था। बाद में मुझे फ्लाइंग का मौका मिला था और आज अभिनंदन के साथ भी वैसा ही हुआ है। 6 महीने बाद वह फ्लाइंग कर रहे हैं। दूसरा संयोंग यह है कि हम दोनों ने ही पाकिस्तान के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। मैं कारगिल में लड़ा और अभिनंदन बालाकोट में लड़े। और तीसरा संयोग यह है कि मैंने अभिनंदन के पिता के साथ भी उडा़न भरी थी और अब इनके साथ भी उड़ान भरी है।’

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तानी सीमा में जैश ए मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया था। उसके बाद 27 फरवरी को पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से भारत की वायुसीमा का उल्लंघन किया गया। इस दौरान हुए हवाई संघर्ष में पाकिस्तान का एक एफ-16 विमान गिरा दिया गया तथा भारत का मिग 21 दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस संघर्ष के परिणामस्वरूप विंग कमांडर अभिनंदन का पैराशूट सीमा पार चला गया और उन्हें पाकिस्तान ने पकड़ लिया।

इसके बाद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी संसद में कहा था कि वह शांति के संदेश के तौर पर भारतीय पायलट को रिहा कर रहे हैं। पाकिस्तान की कैद में करीब तीन दिन रहने के बाद जब विंग कमांडर भारत लौटे तो वाघा बॉर्डर पर उनके स्वागत के लिए बड़ी संख्या में लोग जुटे थे। कुछ दिन पहले एयरबेस पर उनके साथियों के साथ सेल्फी का वीडियो खूब वायरल हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here