कासगंज हिंसा में जिंदा शख्स को ‘मृत’ घोषित करने वाले अभिजीत मजूमदार अब प्रियंका गांधी का ‘एडिटेड वीडियो’ फैलाते हुए पकड़े गए, ट्विटर पर हुए ट्रोल

0

याद कीजिए राहुल उपाध्याय नाम के उस युवक को जिसे पिछले साल 30 जनवरी को मीडिया के सामने आकर अपने ‘जिंदा होने का सबूत’ देना पड़ा था। राहुल वही युवक था जिसे सोशल मीडिया पर गणतंत्र दिवस (26 जनवरी 2018) के दिन उत्तर प्रदेश के कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा में मरा हुआ बता दिया गया था। मीडिया से बात करते हुए राहुल ने खुद अपनी मौत की अफवाहों का सच सबके सामने रखा था। सोशल मीडिया पर राहुल उपाध्याय की मौत की झूठी खबर फैलाने वालों में कई वरिष्ठ पत्रकारों, बुद्धिजीवियों सहित समाचार चैनल भी शामिल थे।

सबसे हैरानी की बात यह थी कि युवक की मौत की झूठी अफवाह फैलाने वालों में उस वक्त इंडिया टुडे (अब छोड़ चुके हैं) जैसे देश के बड़े समूह के वरिष्ठ संपादक रहे अभिजीत मजूमदार भी शामिल थे। मजूमदार ने पूरे आत्मविश्वास के साथ राहुल की ‘मौत की झूठी खबर’ अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया था। जिसकी बाद में मजूमदार की काफी आलोचना हुई थी। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के कासगंज में 26 जनवरी 2018 को निकाली जा रही तिरंगा यात्रा के दौरान हुई एक झड़प ने साम्प्रदायिक हिंसा का रूप ले लिया था। हिंसा में चंदन गुप्ता नाम के एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई थी।

 

अब प्रियंका गांधी वाड्रा की ‘एडिटेड वीडियो’ फैलाते हुए पकड़े गए

कासगंज हिंसा में जिंदा शख्स को ‘मृत’ घोषित करने वाले अभिजीत मजूमदार एक बार फिर एक आधे अधूरे वीडियो को फैलाते हुए पकड़े गए हैं। इस बार उन्होंने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की एक वीडियो को एडिट कर ट्विटर पर शेयर किया है, जिसके बाद वह यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं।

दरअसल, मजूमदार द्वारा शेयर किए गए वीडियो में कुछ बच्चे ‘चौकीदार चोर है’ समेत आपत्तिजनक नारे लगाते हुए नजर आ रहे हैं। इस दौरान वहां खड़ी प्रियंका मुस्कुराती हैं। लेकिन मजूमदार द्वारा शेयर किया गया यह वीडियो पूरा नहीं है, क्योंकि इस वीडियो में कुछ सेकंड बाद ही प्रियंका बच्चों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ऐसे नारे लगाने से मना करती हैं।

वीडियो में कुछ सेकंड के बाद प्रियंका स्पष्ट रूप से बच्चों को पीएम मोदी के खिलाफ ऐसी भाषा का उपयोग नहीं करने के लिए कहती हैं। प्रियंका ने बच्चों से कहा कि यह वाला (पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी) नहीं… अच्छा नहीं लगेगा…अच्छे बच्चे बनो..। लेकिन मजूमदार ने प्रियंका के आधे अधूरे वीडियो को शेयर एक बार फिर लोगों को अंधकार में डालने की कोशिश की है, जिसे लेकर वह सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि यह काफी हैरान करने वाली बात है कि एक संपादित वीडियो को मजूमदार गलत तरीके से प्रचारित कर रहे हैं।

(देखें, पूरा वीडियो)

केंद्रीय मंत्री एवं अमेठी से बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने बुधवार को इसी एडिटेड वीडियो को शेयर करते हुए प्रियंका पर निशाने साधते हुए इस घटना को ‘अशिष्ट’ बताया। स्मृति ईरानी ने मजूमदार का आधा अधूरा वीडियो शेयर प्रियंका पर निशाने साधते हुए अपने ट्वीट में कहा, ‘यह अत्यंत अशिष्ट है। आप सोच सकते हैं कि जिनकी प्रसिद्धि केवल वंशवाद है उनसे प्रधानमंत्री को अत्यंत भद्दे शब्द सुनने पड़ते हैं। इस बात पर लुटियन्स में गुस्सा दिखाई दिया क्या?’

देखिए, लोगों की प्रतिक्रियाएं:

बता दें कि इससे पहले अभिजीत मजूमदार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की दुबई यात्रा पर एक ‘फर्जी खबर’ शेयर किए थे, जिसे लेकर भी उन्हें काफी ट्रोल होना पड़ा था। इंडिया टुडे छोड़ चुके अभिजीत मजूमदार फिलहाल भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर के स्वामित्व वाली एक दक्षिणपंथी न्यूज वेबसाइट ‘माई नेशन’ (Mynation) में संपादक के तौर पर कार्यरत हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here