क्या दिल्ली में EVM से हो रही है छेड़छाड़? ईवीएम और डाक मतपत्रों की सुरक्षा को लेकर चुनाव आयोग से मिले AAP नेता

0

दिल्ली में सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं ने शनिवार को मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) से मुलाकात कर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) और डाक मतपत्रों की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की। सीईसी से मुलाकात करने के बाद आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने पत्रकारों से कहा कि ईवीएम और डाक मतपत्र जहां रखे गए हैं इसको लेकर संदेह के बादल छाए हुए हैं। सिंह के साथ दक्षिणी दिल्ली से पार्टी के उम्मीदवार राघव चड्ढा भी थे।

आप नेताओं ने आरोप लगाते हुए कहा कि ईवीएम से संबंधित फार्म एक बार भरने के बाद उसमें कोई बदलाव नहीं किया जाता, लेकिन तीन विधानसभा क्षेत्रों में ईवीएम से संबंधित फार्म को दोबारा भरा जा रहा है। इस पहले चड्डा ने 16 मई को एक ट्वीट कर कहा, ‘विसनीय सूत्रों के माध्यम से पता चला है कि चुनाव आयोग ने दक्षिणी दिल्ली संसदीय क्षेत्र के मतदान केंद्रों के पीठासीन अधिकारियों को ईवीएम संबंधित दस्तावेजों को फिर से बनाने और फिर से हस्ताक्षर करने के लिए बुलाया है।

यह चौंकाने वाला है। यह क्या हो रहा है? दस्तावेज दोबारा क्यों भरे जा रहे हैं? क्या ईवीएम भी बदली जा रही हैं?’ दिल्ली में 12 मई को हुए लोकसभा चुनाव के दौरान चड्डा ने तुगलकाबाद क्षेा के एक स्कूल में बने मतदान केंद्र में फर्जी मतदान होने का आरोप लगाया था।

बता दें कि लोकसभा चुनाव के सातवें एवं अंतिम चरण में रविवार को सात राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 59 सीटों पर मतदान हो रहा है। कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच इस चरण के लिए मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और मतदाता शाम छह बजे तक अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे।

शाम छह बजे मतदान केंद्र के दरवाजे बंद कर दिए जाएंगे, लेकिन जो मतदाता इससे पहले केंद्र की परिधि में आ जाएगा और पंक्ति में खड़ा होगा, उसे वोट डालने का अधिकार होगा। दूर दराज के क्षेत्रों में चुनाव कर्मी जरूरी चुनावी सामग्री के साथ मतदान केंद्रों पर कल ही पहुंच गए थे। (इनपुट- यूएनआई के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here