भाजपा IT सेल हेड ने चलाया था आमिर खान को स्नैपडील से हटाने के लिए सोशल मीडिया कैंपेन

0

आमिर खान को स्नैपडील के ब्रांड एंबेसडर की हैसियत से हटाए जाने के लिए बीजेपी के आईटी सेल ने सोशल मीडिया कैंपेन चलाया था। ये आरोप खुद बीजेपी आईटी सेल की एक पूर्व कार्यकर्ता साध्वी खोसला ने लगाया है। आरोप है कि पिछले साल असहिष्णुता वाले बयान के बाद बीजेपी के आइटी सेल ने आमिर खान के खिलाफ कैंपने चलाया था, जिसके बाद उनसे उन्हें स्नैपडील के ब्रांड एंबेसडर से हटा दिया गया था। आपको बता दे कि जनता का रिपोर्टर ने इसी साल जुलाई में इस खबर पर सबसे पहले विस्तृत जानकारी पहुंचाई थी।

snapdeal-aamir-khan

साध्वी के अनुसार, बीजेपी आईटी सेल के हेड ने स्नैपडील पर आमिर से अनुबंध तुड़वाने का दबाव बनाने के लिए सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाने का आदेश दिया था। जिसके बाद सोशल मीडिया पर भाजपा के कार्यकर्ताओ ने स्नैपडील के खिलाफ अभियान चलाया था। जिसके बाद लोगों ने अपने फोन से स्नैपडील के एप भी अनइन्स्टॉल करना शुरु कर दिया था।

जनता का रिपोर्टर ने जुलाई में साध्वी खोसला से बात की थी जिसमें उन्होंने बताया था कि उन्होंने स्वाती चतुर्वेदी से कुछ कथित व्हाट्सऐप मैसेज साझा किए हैं। स्वाती चतुर्वेदी की किताब I am a Troll जल्द ही लोगों के बीच आने वाली है। पत्रकार साध्वी खोसला ने साल 2015 के आखिरी में बीजेपी सोशल मीडिया सेल छोड़ दिया था।

आमिर खान ने नवंबर 2015 में देश में असहिष्णुता होने की बात कही थी। उन्होंने 23 नवंबर 2015 को रामनाथ गोयनका अवार्ड में कहा था कि देश में असहिष्णुता के चलते उनका परिवार असुरक्षित महसूस करता है। उन्होंने ने कहा था ‘पहले की तुलना में थोड़ा डर है। मुझे लगता है कि थोड़ी असुरक्षा है। जब मैं घर में होता हूं और किरण (पत्नी) से बात करता हूं। किरण और मैं अपनी पूरी जिंदगी भारत में रहे हैं।

“पहली बार उसने कहा कि क्या हमें भारत से बाहर जाना चाहिए? किरण का यह बयान मेरे लिए डरावना और बड़ा था। उसे अपने बच्चे का डर था। उसे डर है कि हमारे आसपास का माहौल कैसा होगा। वह रोज जब अखबार खोलती है तो डरती है।”

खोसला ने जनता का रिपोर्टर को बताया था कि आमिर के इस बयान के बाद बीजेपी की सोशल मीडिया सेल ने आमिर को स्नैपडील से हटाने के लिए एक मुहिम शुरू की थी। साध्वी खोसला ने कुछ व्हाट्सऐप मैसेज साझा किए जो कथित तौर पर बीजेपी IT सेल के हेड अरविंद गुप्ता ने उन्हें और कुछ अन्य ग्रुप्स में भेजे थे। आमिर खान के बयान के दो दिन बाद भेजे गए एक मैसेज में लिखा था, “स्नैपडील इंडिया के लिए याचिका पर हस्ताक्षर कीजिए।

Cos_hhvVIAAeEoR

स्नैपडील से आमिर खान को अपने विज्ञापनों से हटाने की अपील कीजिए।” इस मैसेज के नीचे ऑनलाइन याचिका का एक लिंक दिया गया था, जिसपर साइन करना था। आमिर के इस बयान के कुछ महीने बाद ई-कॉमर्स कंपनी स्नैपडील ने उनका ब्रांड एंबेसेडर का कांट्रेक्ट रिन्यू नहीं किया था।

हालांकि जब अरविंद गुप्ता से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने स्वीकार किया कि वह भाजपा के IT विभाग के हेड हैं, लेकिन साथ ही उन्होंने साध्वी खोसला के दावों को नकार दिया था। उन्होंने कहा कि खोसला कांग्रेस को सपोर्ट करती हैं और इसी कारण ऐसे झूठे दावे कर रही हैं।

साथ ही आपको बता दे कि इस बात के कुछ दिनों बाद ही अपनी प्रशंसा में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने इस बात की पृष्टि की थी कि उनको इस बात की जानकारी थी कि बीजेपी का आई टी सेल आमिर खान के खिलाफ इस तरह की मुहिम को चला रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here