जानें, क्यों सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आईं आजतक की एंकर अंजना ओम कश्यप, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #boycottAajtak और #शर्मनाक_अंजनाओमकश्यप

0
Follow us on Google News

उत्तर प्रदेश के बरेली बिथरी चौनपुर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी मिश्रा और दलित युवक अजितेश के प्रेम विवाह मामले में नया मोड़ आ गया है। जिस मंदिर में दोनों की शादी हुई है, वहां के महंत परशुराम सिंह ने प्रमाण-पत्र को फर्जी बताया है। अति प्राचीन राम जानकी मंदिर के महंत परशुराम सिंह ने इस विवाह की जानकारी से ही इनकार करते हुए शादी के प्रमाण-पत्र को ही फर्जी करार दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि वह इस मामले में कानूनी मदद लेंगे।

अंजना ओम कश्यप

मंदिर के महंत परशुराम सिंह ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को बताया कि उनके मंदिर में न शादी होती है और न ही ऐसा कोई प्रमाण-पत्र जारी होता है। उन्होंने आचार्य विश्वपति जी शुक्ल के बारे में जानकारी से साफ इनकार किया। उन्होंने कहा कि इस मंदिर का नाम बदनाम किया जा रहा है, और इस बारे में वह कानूनी मदद लेंगे। आईएएनएस के अलावा मंदिर के पुजारी परशुराम दास ने एएनआई से भी कहा कि यहां शादियां नहीं होती हैं। यहां कोई शादी नहीं हुई है। हमने कोई विवाह प्रमाण पत्र जारी नहीं किया है। यहां शादी करने का दावा करने वाले को कोई नहीं जानता।

बता दें कि अनुसूचित जाति के युवक से शादी करने के बाद बरेली के भाजपा विधायक की बेटी साक्षी और उसके पति ने हाई कोर्ट की शरण ली है। अदालत में साक्षी ने अपनी व अपने पति की जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा मांगी है। इन दोनों की तरफ से हाई कोर्ट में अपने विवाह का प्रमाण-पत्र प्रस्तुत किया गया है, जिसमें प्रयागराज के बेगम सराय स्थित अति प्राचीन राम जानकी मंदिर में विवाह होने और वहीं से प्रमाण-पत्र प्राप्त होने की जानकारी दी गई है। इस प्रमाण-पत्र पर साहित्याचार्य कर्मकांड विशेषज्ञ आचार्य विश्वपति जी शुक्ल का नाम दर्ज है।

सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आईं अजना ओम कश्यप

इस मामले में साक्षी मिश्रा के समर्थन में एक डिबेट करने के बाद आजतक की मशहूर एंकर अंजना ओम कश्यप सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं। अंजना ओम कश्यप की ट्विटर पर शनिवार सुबह से ही जमकर खिंचाई की जा रही है। यूजर्स अंजना पर महज टीआरपी की खातिर एक बेटी के पिता का पूरे देश के सामने अपमान करने का आरोप लगा रहे हैं। वरिष्ठ पत्रकार मनोज राजन त्रिपाठी ने आजतक चैनल पर इस मामले को लेकर हुई डिबेट के कुछ स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए जमकर अपनी भड़ास निकाली है।

राजन ने लिखा, “बिटिया तुम हम मीडिया वालों के लिये सिर्फ एक ख़बर हो। ख़बर में मसाला इससिये है क्योंकि तुम्हारे पापा राजेश मिश्र BJP MLA हैं और ख़बर के विलेन हैं। कल जब तुम्हारी बेटी ऐसा करेगी तब मीडिया के लिये वो बेटी ख़बर होगी और तुम पति पत्नी विलेन।”

शनिवार सुबह से ही ट्विटर पर #AnjanaOmKashyap, #boycottAajtak और #शर्मनाक_अंजनाओमकश्यप टॉप पर ट्रेंड कर रहा है। कई यूजर्स अंजना की बेटी को लेकर भद्दी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और पत्रकार आशुतोष ने अंजना की बेटी को लेकर किए जा रहे भद्दे कमेंट्स पर नाराजगी व्यक्त किया है।

आशुतोष ने लिखा, “क्या हम एक पैशाचिक समाज बनते जा रहे हैं? अगर हम किसी को नापसंद करते हैं या उसका काम/विचारधारा तो हम उसकी बेटी के बारें में बुरी बातें करेंगें। ये कौन घृणित लोग है। मैंने अंजना ओम कश्यप का प्रोग्राम नहीं देखा पर सोशल मीडिया पर उसके/उसकी बेटी पर जो लिखा जा रहा वह अक्षम्य है।”

 

दरअसल, वीडियो के शेयर होने के बाद सोशल मीडिया पर लोग लड़की के पक्ष में खड़े नजर आए। जिसके बाद उन्होंने कहा कि बेटी को इंसाफ मिले और एक बाप को ऐसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि साक्षी को पूरा अधिकार है कि वह अपनी मर्जी से शादी कर सकती हैं। हालांकि इस मामले में अब सोशल मीडिया पर नया मोड़ आ गया है जिसमें लोग अब लड़की से गुजारिश कर रहे हैं कि बेटी मान जाओ अब बहुत हो गया मां-बाप को बदनाम करना बंद करो। लोगों का कहना है कि मीडिया टीआरपी के चक्कर में तुम्हें मसाले की तरह पेश कर रहा है।

देखें, लोगों की प्रतिक्रियाएं:

चार जुलाई को की थी शादी

बरेली के बिथरी चौनपुर के भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा दो जुलाई को घर छोड़कर प्रेमी अजितेश के साथ चली गई थी। चार जुलाई को दोनों ने प्रयागराज में एक मंदिर में शादी कर ली। इसके चार दिन बाद साक्षी ने अजितेश के साथ दो वीडियो वायरल किए, जिसमें उसने खुद को जान का खतरा बताया और सुरक्षा मांगी। वीडियो में यह भी कहा गया है कि यदि उन्हें कुछ होता है तो इसके जिम्मेदार पप्पू भरतौल और उनके कुछ सहयोगी होंगे।

इस मामले में विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल ने हालांकि कहा है कि बेटी बालिग है, उसे फैसला लेने का अधिकार है। मैंने या मेरे किसी समर्थक ने कोई धमकी नहीं दी। बेटी चाहे जहां रहे, खुश रहे। वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, भोपाल के एक परिवार ने अब दावा किया है कि उनकी बेटी की सगाई साक्षी मिश्रा के पति अजितेश से हुई थी।परिजनों के मुताबिक, कुछ महीने पहले अजितेश ने उनकी बेटी से सगाई की थी, लेकिन लड़के के पक्ष वालों की तरफ से अत्यधिक दहेज की मांग के बाद सगाई तोड़ दी गई थी। परिवार ने अपने दावे को पुष्ट करने के लिए सगाई समारोह की तस्वीरें भी जारी की हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here