कोरोना वायरस: तबलीगी जमात के 960 विदेशी सदस्यों के नाम काली सूची में डाले गए, वीजा रद्द

0

तबलीगी जमात के जिन 960 विदेशी कार्यकर्ताओं के नाम काली सूची में डाले गए हैं उनमें चार अमेरिकी, नौ ब्रिटिश और छह चीनी नागरिक शामिल हैं। अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इन सभी के पर्यटक वीजा रद्द कर दिए हैं।

तबलीगी जमात

वर्तमान में देश के विभिन्न हिस्सों में मौजूद जमात के विदेशी सदस्यों में 379 इंडोनेशियाई, 110 बांग्लादेशी, 63 म्यामां के और 33 श्रीलंकाई नागरिक शामिल हैं। इनमें से कुछ के कोविड-19 से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि तबलीगी जमात के जिन प्रतिनिधियों के नाम काली सूची में डाले गए हैं उनमें 77 किर्गिस्तानी, 75 मलेशियाई, 65 थाई, 12 वियतनामी, सऊदी अरब के नौ और फ्रांस के तीन नागरिक शामिल हैं और उनके वीजा रद्द कर दिए गए हैं।

तबलीगी जमात के विदेशी सदस्यों के खिलाफ यह कार्रवाई उस वक्त की गई जब दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित इस्लामी संगठन के मुख्यालय में 250 विदेशी सदस्यों समेत 2,300 कार्यकर्ता कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के मद्देनजर लागू 21 दिन के लॉकडाउन के बावजूद यहां ठहरे पाए गए। तबलीगी जमात के 300 से ज्यादा प्रतिनिधि कोविड-19 की जांच में संक्रमित पाए गए जबकि अन्य को विभिन्न पृथक केंद्रों में रखा गया है।

बता दें कि, निजामुद्दीन मरकज में पिछले महीने हुई एक धार्मिक सभा में कम से कम 9,000 लोगों ने हिस्सा लिया था जिसके बाद इनमें से कई ने धर्म प्रचार कार्य के लिए देश के विभिन्न हिस्सों की यात्रा की। देश में अब तक कोविड-19 के 400 मरीज और 12 मौतें ऐसी हुई हैं जिनका संबंध निजामुद्दीन मरकज से है। इस घटना ने पूरे देश में हलचल मचा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here