2015-16 की दूसरी तिमाही में 70,000 श्रमिकों का रोजगार छिन गया

0

निर्यात में आई जोरदार गिरावट की वजह से 2015-16 की दूसरी तिमाही में 70,000 के करीब श्रमिकों का रोजगार छिन गया. एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है.

उद्योग मंडल एसोचैम और थॉट आर्बिटरेज के संयुक्त अध्ययन में कहा गया है कि 2015-16 की दूसरी तिमाही में वस्तुओं के निर्यात में गिरावट से करीब 70,000 रोजगार कम हुए.’ पीटीआई भाषा की खबर के अनुसार, इससे घरेलू मांग आधारित रोजगार सृजन अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है.

Also Read:  बाबरी विध्वंस मामला: CBI ने SC में कहा, आडवाणी-जोशी सहित सभी पर आपराधिक साजिश का मुकदमा चलना चाहिए

रिपोर्ट में कहा गया है कि निर्यात इकाइयों में आजीविका के अवसरों में कमी से इस अवधि में करीब 70,000 श्रमिकों को छंटनी का सामना करना पड़ा. इसमें सबसे ज्यादा प्रभावित कपड़ा क्षेत्र रहा. निर्यात में कमी की वजह से इस क्षेत्र में ठेके पर रोजगार में भारी गिरावट देखी गई.

Also Read:  सुप्रीम कोर्ट के मुख्या न्यायाधीश का प्रधानमंत्री मोदी पर पलटवार, कहा जज छुट्टियां बिताने हिल स्टेशन नहीं जाते, वो काम करते हैं

इसके अलावा वैश्विक मांग में कमी की वजह से कुछ इकाइयों ने अपने कर्मचारियों की संख्या में कटौती की. रिपोर्ट में कहा गया है, ‘यह चिंता की बात है, क्योंकि ज्यादातर निर्यात आधारित इकाइयां अनुबंध वाले श्रमिकों पर निर्भर हैं. ऐसे में इन क्षेत्रों में ठेका रोजगार में भारी कमी निर्यात इकाइयों की खराब होती स्थिति को दर्शाता है.’

Also Read:  Kirti Azad suspended, twitter asks 'does anti-corruption equal anti-party activities for BJP?'

अगस्त में देश का निर्यात लगातार दूसरे महीने घटा. इस दौरान निर्यात 0.3 प्रतिशत की गिरावट के साथ 21.51 अरब डॉलर रहा जो अगस्त, 2015 में 21.58 अरब डॉलर था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here