दिल्ली: 9 साल की मासूम से रेप के आरोप में 67 साल का मौलवी गिरफ्तार, पुलिस ने मदरसा होने से किया इनकार

1

राजधानी दिल्ली में 9 साल की एक मासूस के साथ रेप करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। यह आरोप 67 साल के एक बुजुर्ग मौलवी पर लगा है। आरोप है कि बीते शनिवार को 67 वर्षीय बुजुर्ग मौलवी ने 9 वर्षीय एक मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म किया है। यह मामला दिल्ली के नरेला थाने में स्थित बवाना जेजे कॉलोनी इलाके का है। यहां मौलवी के पास आसपास के झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले छोटे बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं।

प्रतीकात्मक तस्वीर: HT

बच्ची ने दो दिन तक तो किसी को कुछ नहीं बताया। लेकिन तीसरे दिन जब उसकी तबीयत बिगड़ी तो अपने परिजनों को मामले का पता चला। बच्ची को बाबा भीमराव अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पीड़िता के बयान पर पुलिस ने दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आरोपी मौलवी को गिरफ्तार कर लिया है। इधर बच्ची के साथ हैवानियत की खबर सुनकर बुधवार को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने अस्पताल पहुंचकर बच्ची का हाल लिया।

पीड़ित मासूम परिवार के साथ जेजे कॉलोनी, बवाना में रहती है। उसके पिता बवाना की एक निजी कंपनी में काम करते हैं। वहीं मूलरूप से बिहार का रहने वाला आरोपी मौलवी भी नरेला थाना क्षेत्र स्थित बवाना जेजे कॉलोनी के ई-ब्लॉक में अपने बेटे के साथ रहता है। जहां उसने घर के पास ही एक झुग्गी में अपना स्कूल बनाया हुआ है, जहां वह छोटे बच्चों को पढ़ाता है। आरोपी की मौलवी की पहचान बिहार के मुजफ्फरपुर निवासी 67 वर्षीय मोहम्मद जफीर आलम के रूप में हुई है।

पीड़ित बच्ची भी मौलवी के पास पढ़ने जाती थी। गत शनिवार शाम को बच्चे इसके पास पढ़ने आए थे। आरोपी मौलवी ने सभी बच्चों की सात बजे छुट्टी कर दी, जबकि उसने मासूम को पांच रुपये देने की बात कहते हुए रोक लिया था। बाद में उसने बच्ची को डरा-धमका कर इस घिनौनी वारदात को अंजाम दिया। साथ ही बच्ची को धमकी दी कि अगर उसने इस घटना के बारे में किसी को बताने की कोशिश की, तो वह उसको जान से मार देगा।

पुलिस ने मदरसा होने से किया इनकार

‘जनता का रिपोर्टर’ से नरेला थाने एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया मौलवी जहां बच्चों को बढ़ाता था, वह एक झुग्गीनुमा आवास है ना कि कोई मदरसा। अधिकारी का कहना है कि मौलवी वहां अासपास के रहने वाले गरीब बच्चों को धार्मिक तामील देता है। जहां मासूम बच्ची भी पढ़ने के लिए आती थी। पुलिस ने बताया कि यह घटना शनिवार शाम की है। मासूम बच्ची ने मौलवी के डर के मारे घटना के बारे में किसी को बताया नहीं और दो दिन तक गुमसुम रही।

सोमवार रात बच्ची की अचानक तबियत खराब हुई और दर्द से कराहने लगी। परिवार वालों ने देखा तो उसके निजी अंगों से ब्लीडिंग हो रही थी। जिसके बाद परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने जानकारी दी कि उसके साथ रेप हुआ है। उसके बाद बच्ची ने परिजनों को आपबीती बताई। जिसके बाद परिजनों ने घटना की शिकायत नरेला पुलिस थाने में की। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी मौलवी के खिलाफ केस दर्ज कर मंगलवार शाम गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

 

 

 

 

1 COMMENT

  1. While such extremely heinous and brutal crime cupommitted by a self proclaimed Islamic cleric should be awarded the exemplary punishment to the extent of capital punishment the way the Islamic nations and shariyah defines which will be an eye opening and landmark act towards eradicating painful shameful and unfortunate rising trend in liberal democratic Indian system. Even if law of the land speaks different but in such case/s punishment should be severe most as defective and perfect as in Islamic nation. Request proposal by Dr Akmal Husain (Ex CEO UP Sunni Central Waqf Board Lucknow) Sr Scientist: Government of India (recently superannuated) Cell No 9003173400 email: ceoupscwb@gmail.com, Res: Kharagpur (WB) 721301

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here