जानें क्यों, अपने ही 60 फीसदी सांसदों से नाराज हैं BJP कार्यकर्ता! लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी नेतृत्व की बढ़ी चिंताएं

0

इस साल होने वाले लोकसभा में केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल, एक अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, लोकसभा के 60 फीसदी सांसदों से भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता नाराज हैं। अखबार के मुताबिक, इस मामले को लेकर बीजेपी नेतृत्व की चिंताएं बढ़ गई हैं। पार्टी को अपने अंदरूनी तंत्र से मिल रहे फीडबैक से ये जानकारी मिली है। पार्टी कार्यकर्ताओं की नाराजगी चुनाव में भारी पड़ सकती है।

हिंदुस्तान अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, लोकसभा के 60 प्रतिशत सांसदों को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं की नाराजगी से BJP नेतृत्व सतर्क हो गई हैं। पार्टी को अपने अंदरूनी तंत्र से विभिन्न स्तरों पर मिल रहे फीडबैक में यह स्थिति सामने आई है। इनमें से कुछ को तो बदला जा सकता है, लेकिन कई मंत्री व बड़े कद वाले नेता भी शामिल हैं, जिनके टिकट काट पाना संभव नहीं है।

दिल्ली में दो दिन पहले हुई पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में देश के हर लोकसभा क्षेत्र के चुनिंदा कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया था। अखबार को सूत्रों ने बताया कि इस दौरान उनके क्षेत्रों के पार्टी सांसदों को लेकर भी उनकी राय जानने की कोशिश की गई। पार्टी ने लोकसभा क्षेत्र सोशल मीडिया प्रभारियों, मीडिया प्रभारियों, विभिन्न मोर्चों के प्रमुख कार्यकर्ताओं के साथ अलग-अलग बैठकें कीं।

इन बैठकों का एजेंडा तो चुनावी तैयारियों का था, लेकिन इनमें सांसदों को लेकर राय भी सामने आईं। बिहार और उत्तर प्रदेश के कार्यकर्ताओं ने तो कुछ मंत्रियों के भी नाम लिए और कहा कि इनको अगर दोबारा टिकट दिया गया तो मुश्किल होगी। संगठन से जुड़े एक प्रमुख नेता ने कहा कि कार्यकर्ताओं की अपेक्षाएं ज्यादा होती है और ऐसे में नाराजगी होती ही है। जिन क्षेत्रों से हर स्तर पर नकारात्मक रिपोर्ट मिल रही है, वहां पर उम्मीदवार बदलने पर विचार किया जाएगा। वैसे भी हर चुनाव में लगभग 20 फीसदी चेहरे बदले ही जाते हैं।

सूत्रों के अनुसार कार्यकर्ताओं से मिले फीडबैक में कई प्रमुख नेताओं के खिलाफ माहौल होने से पार्टी सतर्क हो गई है। इसकी एक वजह हाल के विधानसभा चुनाव रहे हैं। जहां पर कई सीटों पर नकारात्मक माहौल होने के बाद भी टिकट नहीं काटे गए। इससे पार्टी को हार का सामना करना पड़ा। बता दें कि इसी साल लोकसभा का चुनाव होना है, ऐसे में इतनी बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं की नाराजगी बीजेपी को मुश्किल में डाल सकती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here