नोट बदलने के लिए सभी बैंकों में अतिरिक्त कैश काउंटर खुले मिलें, बैंकों में भी किया जाएगा अतिरिक्त काम

0
गुरूवार को जब बैंक खुलेंगे तो लोगों को नोट बदलने की परेशानी से बचाने के लिए सभी बैंकों में अतिरिक्त कैश काउंटर खुले हुए मिलेगें। सरकार के इस अचानक लिए गए फैसले पर लोगों के बीच में कई तरह की अफवाहें फैली हुई हैं कि बैंकों में किलोमीटर के हिसाब से लाइनें लगी मिलेगी। किसी का भी काम नहीं हो पाएगा आदि। लेकिन सरकार ने इस तरह की समस्यों से बचने के लिए अतिरिक्त कैश काउंटर की व्यवस्था सभी बैंकों में की हैं।
rupee-generic_650x400_81435890540
भाषा की खबर के अनुसार, आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बैंक काउंटरों पर अफरा-तफरी व भीड़ की संभावना को देखते हुए सरकार और रिजर्व बैंक ने मुंबई, दिल्ली में नियंत्रण कक्ष स्थापित किए हैं ताकि किसी तरह के संकट को टाला जा सके। बैंक बुधवार यानी आज बंद रहेंगे। लोगों को दस नवंबर से अपने मौजूदा अवैध 500 रुपए व 1000 रुपए के नोट बैंक और डाकघरों के ज़रिये बदलने की अनुमति होगी।
इसके अलावा ग्राहक 30 दिसंबर तक 500 व 1000 रुपए के कितनी भी राशि के नोट अपने बैंक खातों में जमा करवा सकते हैं। इसके अलावा 24 नवंबर तक वे किसी भी बैंक अथवा डाकघर से 4000 रुपए प्रतिदिन तक अदला बदली कर सकेंगे इसके लिए उन्हें अपना पहचान पत्र दिखाना होगा। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा कि केंद्रीय बैंक ने 500 रुपए व 2000 रुपए के उच्च सुरक्षा मानकों वाले नये नोटों का विनिर्माण तेजी से शुरू कर दिया है। ये नोट पुराने नोट का स्थान लेंगे। 500 व 2000 रुपए के नये नोट 10 नवंबर से चलन में आ जाएंगे।
मंगलवार रात पीएम मोदी ने देश को संदेश देते हुए कहा कि इसके कारण लोगों को कुछ परेशानियां पेश आयेंगी.. लेकिन मेरा आग्रह होगा कि देशहित में वे इन कठिनाइयों को नजरंदाज करेंगे। हर देश के इतिहास में ऐसे क्षण आते हैं जब व्यक्ति उस क्षण का हिस्सा बनना चाहता है और राष्ट्र निर्माण में सहभागी बनना चाहता है। ऐसे गिने चुने मौके आते हैं और यह ऐसा एक मौका है। ’’ मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार देश में गहरी जड़ें जमा चुका है। भ्रष्टाचार, जाली मुद्रा और आतंकवाद नासूर बन चुका है और अर्थव्यवस्था को जकड़ लिया है। हमारे दुश्मन जाली नोटों के जरिए भारत में रैकेट चला रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here