महाराष्ट्र: बच्चा चोरी के शक में ग्रामीणों ने पांच लोगों को पीट-पीटकर मार डाला

0

पिछले कुछ दिनों से बच्चा चोरी की अफवाह देश में हिंसक रूप लेती जा रही है। अब महाराष्ट्र में भी इस तरह का मामला सामने आया है। धुले जिले में भीड़ ने बच्चा चोरी करने वाले गिरोह का सदस्य होने के संदेह में रविवार (1 जुलाई) को पांच लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी। धुले एसपी के मुताबिक मामले में हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है और 15 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

राजस्थान
प्रतीकात्मक फोटो

हिंदुस्तान में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने बताया कि साकरी तहसील के रेनपाड़ा बाजार में लोगों ने पांच लोगों को एक बस से उतरते हुए देखा। इसी दौरान वे लोग एक बच्ची से कुछ पूछने लगे। तभी भीड़ ने बच्चा चोर होने के शक में उनकी ईंट और डंडे से पिटाई शुरू कर दी। इसके बाद उन्हें बंद कमरे इतना मारा कि उनकी वहीं मौत हो गई। इस दौरान वहां पहुंचे तीन पुलिसकर्मी भी घायल हो गए।

पिम्पनेर थाने के एक अधिकारी ने बताया कि अभी तक मारे गए लोगों की पहचान नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि घटनास्थल पर पहुंची पुलिस पर भी भीड़ ने पथराव किया। इस दौरान दो पुलिसकर्मी भी जख्मी हो गए। वहीं, महाराष्ट्र के गृह राज्यमंत्री दीपक केसरकर ने लोगों से अपील की कि सोशल मीडिया पर प्रसारित अफवाहों पर ध्यान नहीं दें।

व्हाट्सएप से फैली अफवाह

जानकारी के अनुसार रेनपाड़ा में रविवार दोपहर से गांव वालों के पास व्हाट्सएप मैसेज से अफवाह फैली कि बच्चों को संभालकर रखें। कुछ लोग बच्चे चोरी करने के लिए घूम रहे हैं। इसके थोड़ी देर बाद गांव के पास पांच अनजान लोग दिखाई दिए। इस पर गांव वालों ने बिना कोई पूछताछ किए उन पर हमला बोल दिया।

दरअसल, पिछले कुछ दिनों में व्हाट्सएप मैसेज की अफवाहों के चलते देश के कई हिस्सों में भीड़ द्वारा लोगों को मार डालने की घटनाएं सामने आई हैं। लोगों को महज संदेह के आधार पर मारा डाला गया है। बच्चा चोरी के मैसेज जंगल में लगी आग की तरह झारखंड से तमिलनाडु और असम से गुजरात तक फैल रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here