उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में खाई में गिरी बस, 47 यात्रियों की मौत, कई गंभीर रूप से घायल

0

उत्तराखंड के पौड़ी-गढ़वाल में रविवार (1 जुलाई) को बड़ा सड़क हादसा हो गया। इसमें करीब 47 यात्रियों की दर्दनाथ मौत हो गई है, जबकि कई लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं। घटनास्थल पर पहुंचे बचाव कर्मियों ने घायलों को तुरंत स्थानीय हॉस्पिटल में भर्ती कराया है। डिस्ट्रिक्ट कंट्रोल रूम पौड़ी के मुताबिक, सुबह करीब 8:45 बजे हादसा हुआ।मृतक सभी स्‍थानीय बताए जा रहे हैं।

photo: NDTV

समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक बस के गहरे खाई में गिर जाने से उसमें सवार 47 यात्रियों की मौत हो गई तथा 11 अन्य घायल हो गये। घायलों में से दो की हालत नाजुक बतायी जा रही है। पौड़ी के पुलिस अधीक्षक जगतराम जोशी ने बताया कि हादसा सुबह उस समय हुआ जब भवन से रामनगर जा रही निजी बस कबीन गांव के पास अचानक नियंत्रण खो बैठी और 200 मीटर गहरी खाई में गिर गयी।

उन्होंने बताया कि दुर्घटना में 45 यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि दो अन्य ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। हादसे में 11 अन्य यात्री घायल हो गये हैं जिनमें से दो की हालत नाजुक बतायी जा रही है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि गंभीर रूप से घायल दोनों यात्रियों को रामनगर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि अन्य घायल धूमाकोट के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती हैं। उन्होंने बताया कि बस हादसे का शिकार सभी लोग स्थानीय थे।

जोशी ने बताया कि हादसे के समय बस में कुल 58 यात्री सवार थे। हालांकि, क्षमता से अधिक यात्रियों के सवार होने के कारण हादसा होने की बात पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हादसे के सही कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी ने बताया कि पुलिस और राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) की टीमें मौके पर हैं तथा उनकी मदद से बचाव और राहत कार्य चलाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि बचाव और राहत कार्य जल्द से जल्द पूरा हो और पीड़ितों को समय रहते यथासंभव मदद उपलब्ध करायी जा सके। प्रदेश के राज्यपाल डॉ केके पाल और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बस हादसे पर गहरा दुख जताया है और जिला प्रशासन को पीड़ितों की समुचित देखभाल करने के निर्देश दिये हैं।

यहां जारी अपने शोक संदेश में मुख्यमंत्री रावत ने दुर्घटना में मारे गये यात्रियों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए जिला प्रशासन को तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये तथा घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता राशि अविलंब उपलब्ध कराने को कहा है।

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को ये भी निर्देश दिये हैं कि आवश्यक होने पर घायलों को बेहतर उपचार हेतु देहरादून लाने के लिए हैलीकॉप्टर का प्रयोग भी किया जाए

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here