PM मोदी को ‘मॉडल’ और ‘हीरो’ बताने वाले पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस एम आर शाह सहित सुप्रीम कोर्ट को मिले चार नए न्यायाधीश

0

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता, न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी, न्यायमूर्ति एम आर शाह और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी को शुक्रवार (2 नवंबर) को सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश पद की शपथ दिलाई। इन न्यायाधीशों के शपथ लेने के साथ ही सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों की संख्या अब 28 हो गई है। शीर्ष न्यायालय में कुल 31 न्यायाधीश नियुक्त हो सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट के कोर्ट नंबर एक में सुबह साढ़े 10 बजे शपथ ग्रहण समारोह शुरू हुआ और प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने चारों न्यायाधीशों को पद की शपथ दिलाई।

समचाार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक राष्ट्रपति ने गुप्ता, रेड्डी, शाह और रस्तोगी को सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत करने के उच्चतम न्यायालय कॉलेजियम की सिफारिश को गुरुवार को मंजूरी दे दी थी। ये चारों न्यायाधीश अलग-अलग उच्च न्यायालयों में मुख्य न्यायाधीश थे। न्यायाधीश गुप्ता मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश थे जबकि न्यायाधीश रेड्डी गुजरात हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश थे।

जबकि न्यायाधीश शाह पटना हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रहे जबकि न्यायाधीश रस्तोगी त्रिपुरा हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश थे। शीर्ष अदालत में न्यायाधीशों के स्वीकृत पदों की संख्या 31 है। इन चार न्यायाधीशों की नियुक्ति के साथ ही शीर्ष अदालत में न्यायाधीशों की संख्या 24 से बढ़कर 28 हो गई है।

पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस ने पीएम मोदी को बताया था ‘मॉडल’ और ‘हीरो’

इन चारों नामों में सबसे ज्यादा चर्चा पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस रहे मुकेश रसिक भाई शाह का हो रहा है। जस्टिस शाह हाल ही में पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बने थे। 12 अगस्त को बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राजभवन में उन्हें शपथ दिलाई थी। जस्टिस शाह इससे पहले गुजरात हाई कोर्ट में जज थे। साल 1982 में गुजरात हाई कोर्ट में उन्होंने वकालत की शुरुआत की थी। साल 2004 में वो वहां के जज बने और एक साल बाद वो स्थाई जज बने।

इन सबसे अलग जस्टिस शाह ने हाल ही में बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘मॉडल’ और ‘हीरो’ बताया था। “आप (जस्टिस शाह) प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के राज्य से हैं। तो लोग कहते हैं कि आप तो मोदी और अमित शाह के शहर से हैं। एक गुजराती के लिए इस परसेप्शन से बाहर निकलना कितना जरूरी होता है। सब लोग आपको मोदी से जोड़ लेते हैं, ऐसा क्यों होता है?”

इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा था, “क्योंकि नरेंद्र मोदी एक मॉडल हैं। वह एक हीरो हैं। जहां तक मोदी की बात है तो पिछले एक महीने से यही चल रहा है। सोशल मीडिया पर ऐसे सैकड़ों क्लिपिंग्स हैं। रोज़ पेपर में भी यही चलता है।” पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस बनने के बाद जब उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर कहा था कि ‘वह एक हीरो हैं, एक मॉडल हैं’ तब वह काफी सुर्खियों में आए थे।

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने केंद्र से की थी सिफारिश

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने शीर्ष अदालत के न्यायाधीश के तौर पर पदोन्नत करने के लिए चारों न्यायाधीशों के नामों की 30 अक्टूबर को केंद्र से सिफारिश की थी। न्यायमूर्ति गुप्ता को दो जुलाई 2002 को पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त किया गया और आठ फरवरी 2016 को उनका पटना हाई कोर्ट में तबादला कर दिया गया, जहां उन्हें 29 अक्टूबर 2016 को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया। उन्हें पिछले साल 18 मार्च को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया।

न्यायमूर्ति रेड्डी को दो दिसंबर 2002 को आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त किया गया। उन्हें पदोन्नति देकर 13 फरवरी 2016 को गुजरात हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश बनाया गया। वहीं, न्यायमूर्ति शाह को सात मार्च 2004 को गुजरात हाई कोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त किया गया और बाद में अगस्त में उन्होंने पटना हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ ली।

न्यायमूर्ति रस्तोगी को सितंबर 2004 में राजस्थान हाई कोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त किया गया और इस साल एक मार्च को उनकी त्रिपुरा हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में पदोन्नति हुई। इस साल सुप्रीम कोर्ट के दो न्यायाधीश न्यायमूर्ति लोकुर और कुरियन जोसेफ को सेवानिवृत्त होना है जबकि न्यायमूर्ति सीकरी मार्च 2019 में सेवानिवृत्त होंगे।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here