गुजरात का 32 वर्षीय शख्स फर्जी पासपोर्ट के साथ बूढ़ा बनकर जा रहा था न्यूयॉर्क, CISF ने दिल्ली एयरपोर्ट पर किया गिरफ्तार

0

देश की राजधानी दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (IGI) पर सुरक्षा अधिकारियों ने सोमवार को गुजरात के एक 32 वर्षीय शख्स को नकली पासपोर्ट का उपयोग करने और वेश बदलने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी यात्री फर्जी पासपोर्ट के जरिए न्यूयॉर्क जाने की फिराक में था। आरोपी का नाम जयेश पटेल है, जो गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला है।

गुजरात

सीआईएसएफ (CISF) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पकड़े गए आरोपी का नाम जयेश पटेल (32 साल) है। वह 81 साल के बूढ़े का भेष बनाकर अमरीक सिंह के नाम पर न्यूयॉर्क जा रहा था। उसने खुद को बूढ़ा दिखाने के लिए बाल और दाढ़ी-मूछें सफेद रंग से रंग ली थीं। उसने जीरो नंबर का चश्मा भी पहन रखा था। वह व्हीलचेयर पर था। टी-3 में फाइनल सुरक्षा जांच के लिए जब सीआईएसएफ के एसआई राजवीर सिंह ने उसे वील चेयर से उठने के लिए बोला तो इसने इनकार कर दिया। वह कथित तौर पर आंखें मिलाकर बात नहीं कर रहा था, ऐसे में एसआई को उस पर शक हुआ।

एसआई ने उसका पासपोर्ट देखा तो उसमें डेट ऑफ बर्थ 1 फरवरी 1938 थी। उस हिसाब से वह 81 साल का हो चुका था। एसआई ने उसे ध्यान से देखा तो इसकी स्किन उसके बूढ़े होने की गवाही नहीं दे रही थी। शक होने पर उससे सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने सच उगल दिया। इसके बाद पता चला कि वह 32 साल का है और किसी दूसरे शख्स के पासपोर्ट पर अमेरिका जाने की फिराक में था।

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने उसे गिरफ्तार कर दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी यात्री की अभी भी जांच चल रही है, साथ ही यह पता लगाने की कोशिश हो रही है कि आखिर उसने विदेश जाने के लिए क्यों अपनी उम्र छिपाई।

नवभारत टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इसी तरह से एक अन्य मामले में अफगानिस्तान के रहने वाले सैफी नूरजई नाम के एक यात्री को पकड़ा गया। इसके पास दो पासपोर्ट बरामद हुए। वह टी-3 से मलेशिया जाने की कोशिश कर रहा था। शक होने पर जब इसके पासपोर्ट की जांच की गई तो पता लगा कि यह कई बार पाकिस्तान भी जा चुका था। पूछताछ करने पर उसने बताया कि वह किसी और के पासपोर्ट पर यहां से मलेशिया जाना चाह रहा था। उसे भी पुलिस के हवाले कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here