मुंबई हमलों के गुनाहगार डेविड हेडली पर अमेरिकी जेल में जानलेवा हमला, हालत गंभीर

0

वर्ष 2008 में मुंबई में हुए आतंकवादी हमले का आरोपी पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक डेविड कोलमैन हेडली पर अमेरिका के शिकागो की जेल में जानलेवा हमला हुआ है। इसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया है, जिसके बाद उसे शिकागो के नॉर्थ एवेस्टन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मीडिया रिपोर्टों में सोमवार (23 जुलाई) को यह जानकारी दी गई।

हमले के बाद हेडली की हालत नाजुक बताई जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हेडली इस समय आईसीयू में भर्ती है और जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है। बताया जा रहा है कि हेडली पर उसकी ही जेल के 2 साथियों ने हमला कर दिया था। हालांकि अमेरिकी अधिकारियों ने इस पर टिप्पणी से इनकार  कर दिया है।

शिकागो में मेट्रोपोलिटन करेक्शनल सेंटर ने ईमेल से दिए एक संक्षिप्त जवाब में घटना के बारे में बताते हुए कहा, ”हमारे पास उस व्यक्ति (हेडली) के बारे में सूचना नहीं है। कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि आठ जुलाई को दो अन्य कैदियों ने हेडली पर हमला किया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि घायल हेडली को नॉर्थ इवांस्टन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसे गंभीर चोटें आईं, जिसके बाद उसे नॉर्थ एवेस्टन हॉस्पीटल में भर्ती कराया गया।

मीडिय रिपोर्ट्स के मुताबिक, हेडली को सीसीयू में भर्ती कराया गया और वह 24 घंटे निगरानी में है। जिन लोगों ने हेडली पर हमला किया था, उन्हें दशकों पहले पुलिसकर्मियों पर हमला करने के लिए अरेस्ट किया गया था और वे भाई हैं। हिंदुस्तान में प्रकाशित रिपोर्टों के अनुसार, इस हमले में हेडली के सिर और पेट में काफी चोटें आई हैं। उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे शिकागो के नॉर्थ अवनस्टोन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां उसको आईसीयू में रखा गया है और उसकी कड़ी निगरानी की जा रही है।

फरवरी 2016 में हेडली को मुंबई हमलों के सिलसिले में मुंबई अदालत के समक्ष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश किया गया था। डेविड कॉलमेन हेडली, जिसका नाम दाऊद सैयद गिलानी था, जन्म से एक अमेरिकी नागरिक है और पाकिस्तान से संबंधित आतंकवादी है। वह आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम करता था। उसने 2008 के मुंबई हमले की योजना बनाने और अंजाम देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

हेडली ने अमेरिकी अदालत में कबूला कि उसकने कई बार पाकिस्तान जाकर लश्कर से प्रशिक्षण लिया। उसने मुंबई के कई स्थानों के मानचित्र, चित्र लेने हमले की जगहों को चुनने में मदद करने व योजना बनाने की बात भी कबूली। हेडली को 2009 में शिकागो एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया। मुंबई हमले में उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया और वो सरकारी गवाह बन गया। 2013 में अमेरिकी अदालत ने हेडली को 35 सालों की सजा सुनाई।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here