हरियाणा के सरकारी गौशाला में चारे की कमी से 25 गायों की मौत

0

हरियाणा में कुरुक्षेत्र के मथना गांव में एक सरकारी गौशाला में ‘भारी बारिश और चारे की कमी की वजह से करिब 25 गांवों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि बारिश की वजह से गौशाला में पानी भर गया था जिस वजह से कई गायें दलदली ज़मीन में फंस गईं जिससे उनकी मौत हो गई।

Kerala Assembly

गायों की मौत की खबर मिलने के बाद जिला प्रशासन हरकत में आई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ग्राम प्रधान किरण बाला ने कहा कि लगातार बारिश की वजह से गौशाला में जलभराव हो गया। कई गाएं दलदली भूमि में फंस गई और उनकी मौत हो गई, कुछ की मौत भूख की वजह से हो गई और कई अन्य बीमार पड़ गईं।

Also Read:  1% दौलतमंदों के पास भारत की 58% संपत्ति, दौलतमंदों की इस सूची में शीर्ष पर हैं मुकेश अंबानी

ख़बरों के मुताबिक, साथ ही प्रधान ने बताया कि गौशाला में बारिश से निपटने का इंतजाम नहीं था इस कारण ये घटना घटी। घटना की जानकारी मिलते ही हरियाणा गौसेवा कमीशन के अधिकारियों ने भी मथाना का दौरा किया और हालत का जायजा लिया।

Also Read:  'भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने में अहम भूमिका निभा रहा है अमेरिका'

ख़बरों के मुताबिक, उपमंडलीय मजिस्ट्रेट नरिंद्र पाल मलिक ने बीमार गायों को करनाल में अन्य गौशाला में स्थानांतरित करने को कहा। उन्होंने कहा कि अन्य पशुओं को जिले में चल रहे 20 अन्य गौशालाओं में स्थानांतरित कर दिया गया है, जब तक यहां पर मरम्मत का कार्य पूरा नहीं हो जाता।

Also Read:  BMC चुनाव 2017 मतगणना: खराब प्रदर्शन के बाद मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने दिया इस्तीफा

वहीं गौशाला के पूर्व प्रमुख अशोक पपनेजा ने प्रशासन पर आरोप लगाया कि वह गायों को उचित सुविधा मुहैया नहीं करा रही है। अशोक पपनेजा के मुताबिक गौशाला में लगभग 600 गायें थीं, इतनी बड़ी संख्या में पशुओं के लिए चारे और पानी की बराबर व्यवस्था भी नहीं थी।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here