दिल्ली: निजामुद्दीन मरकज़ को कराया गया खाली, मनीष सिसोदिया बोले- ‘2361 लोग निकाले गए, 617 अस्पताल में भर्ती’

0

आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को बताया कि निजामुद्दीन मरकज़ में सुबह 4 बजे तक कार्रवाई हुई है। 2361 लोगों को मरकज से निकाला गया है और 617 लोगों को हॉस्पिटल भेजा गया है और बाकी को अलग-अलग क्वारंटीन में भर्ती कराया गया है।

मनीष सिसोदिया
फाइल फोटो।

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने अपने ट्वीट में लिखा, “निज़ामुद्दीन के आलमी मरकज़ में 36 घंटे का सघन अभियान चलाकर सुबह चार बजे पूरी बिल्डिंग को ख़ाली करा लिया गया है। इस इमारत में कुल 2361 लोग निकले। इसमें से 617 को हॉस्पिटल में और बाक़ी को क्वारंटीन में भर्ती कराया गया है।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “क़रीब 36 घंटे के इस ओपरेशन में मेडिकल स्टाफ़, प्रशासन, पुलिस, डीटीसी स्टाफ़ सबने मिलकर, अपनी जान जोखिम में डालकर काम किया। इन सबको दिल से सलाम।”

गौरतलब है कि, निजामुद्दीन की मरकज में तब्लीगी समाज का कार्यक्रम था जिसमें बडी संख्या में लोग जमा हुए थे। बाद में यहां से लोग देश के विभिन्न राज्यों में गए जिससे कोरोना वायरस का संक्रमण बड़े पैमाने पर फैलने का खतरा उत्पन्न हो गया है। वहीं, इस जमात में शामिल होने 7 लोगों की मौत हो गई है। जिसमें से 6 तेलंगाना और 1 श्रीनगर का शख्स है।

दिल्ली पुलिस ने तबलीगी जमात की लापरवाही के मामले में ऐक्शन लेना शुरू कर दिया है। क्राइम ब्रांच ने मौलाना शाद समेत निजामुद्दीन मरकज में जमात के आयोजकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 269, 270, 271 और 120- बी के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here