मेरठ में ATM से फिर निकले चूरन वाले 2000 के नोट

0

एटीएम से नकली नोट निकले का मामला थमने का नाम ही नही ले रही है। दिल्ली के ATM से चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया के चूरन वाले 2000 रुपये के नोट निकले के बाद अब मेरठ में भी चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया का 2000 को नोट निकलने का मामला सामने आया है। SBI की तरह ही PNB ATM से भी ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ के नोट निकले हैं। शहर के एक प्राइमरी स्कूल में टीचर सुनील दत्त शर्मा ने कहा कि तेजगढ़ी इलाके के ATM से 2000 के 5 नोट निकाले जिनमें से एक नकली निकला।

मेरठ में ATM से फिर निकले चूरन वाले 2000 के नोट
फाइल फोटो

नोट के नकली होने का उन्हें एक दिन बाद पता चला। उन्होंने कहा कि पहले मैंने बैंक से फोन पर संपर्क किया और बाद में खुद जाकर इसके लिए एक एप्लीकेशन दी। फिलहाल उन्होंने मेरठ की ही पंजाब नेशनल बैंक की ब्रांच में नोट जमा करा दिए हैं। उनकी शिकायत पर PNB ने ऐक्शन लेते हुए जांच के तहत ATM की CCTV फुटेज खंगालनी शुरू कर दी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मेरठ के फतेह उल्लाहपुर प्राइमरी स्कूल में टीचर सुनील ने बताया कि 24 फरवरी को मैं शहर के तेजगढ़ी इलाके के PNB के ATM से दस हजार रुपये निकालने गया था।

एटीएम से 2000 के 5 नोट निकले जो मैं घर लेकर चला गया। अगली सुबह (25 फरवरी को) पता चला कि एक नोट नकली है। 25 और 26 फरवरी को बैंक बंद होने के कारण शर्मा ने 27 फरवरी (सोमवार) को बैंक में जाकर इसकी शिकायत की। बैंक अथॉरिटीज का कहना है कि मामले की जांच जारी है।

PNB की मंगल पांडे नगर ब्रांच के मैनेजर मुकेश कुमार का कहना है, ‘हम मानते हैं कि ATM में कैश डालने के लिए हमें आउटसोर्सिंग की जरूरत पड़ती है लेकिन जिस नोट का जिक्र हो रहा है वह कई हाथों से गुजरा है और शिकायतकर्ता को यह नोट अगले दिन किसी और (दूधवाले) से मिला। इसीलिए हमें शिकायतकर्ता के इस दावे पर शक है कि हमारे ATM से नकली नोट निकला है।’ इस मामले में अब तक कोई FIR दर्ज नहीं की गई है।

आपको बता दें कि, इससे पहले दिल्ली के संगम विहार इलाके स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एक एटीएम से 2000 रुपये के नकली नोट निकले थें। जिन पर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की जगह ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ लिखा हुआ था। उसके बाद शाहजहांपुर स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम से 2000 हजार रुपए के नोटों की फोटोकॉपी निकलने का मामला सामने ऑ चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here