झारखंड के बाद अब पश्चिम बंगाल में मॉब लिंचिंग: चोरी के आरोप में युवक की पीट-पीटकर हत्या, दो गिरफ्तार

0

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित झारखंड में 24 वर्षीय तबरेज़ अंसारी की भीड़ द्वारा क्रूरता से की गई हत्या का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ की अब पश्चिम बंगाल से भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है। पश्चिम बंगाल के मालदा में बाइक चोरी करने के आरोप में स्थानीय लोगों ने एक युवक की जमकर पिटाई कर दी जिससे उसकी मौत हो गई।

पश्चिम बंगाल
Image for representation

समाचार एजेंसी PTI के हवाले से इंडिया टुडे में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, मालदा के पुलिस अधीक्षक आलोक राजोरिया ने बताया कि 20 वर्षीय सनाउल शेख की पीट- पीटकर हत्या करने के सिलसिले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बीते 26 जून (बुधवार) को बैष्णबनगर बाजार में बाइक चोरी करने के आरोप में कुछ स्थानीय लोगों ने कथित तौर पर शेख की पिटाई की। उन्होंने बताया कि हमले का कथित वीडियो वायरल हुआ है, जिसके आधार पर कुछ आरोपियों की पहचान हो सकी है।

शेख को पहले बेदराबाद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां से उसे मालदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में रेफर कर दिया गया। बाद में उसे कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन बीते 29 जून (शनिवार) को शेख की मौत हो गई।

मालदा जिला परिषद के वरिष्ठ पदाधिकारी चंदना सरकार ने कहा कि घटना को कोई सांप्रदायिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए। इस घटना को “दुर्भाग्यपूर्ण” बताते हुए उन्होंने कहा, “वह व्यक्ति एक हिस्ट्रीशीटर था और उसे पहले भी चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने कहा, ‘उनकी (सनाउल शेख) की पत्नी से आज मेरी मुलाकात हुई। हम मानवीय आधार पर उनके परिवार की मदद कर रहे हैं।’

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सनाउल की मां की लिखित शिकायत के बाद हमने आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

बता दें कि, झारखंड के सरायकेला-खरसावां जिला में तबरेज अंसारी की भीड़ द्वारा किए हत्याकांड मामले में अभी तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि दो पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। तबरेज अंसारी (22) की 17 जून को बाइक चोरी करने के संदेह में जिले के धतकीडीह गांव में भीड़ द्वारा बर्बरतापूर्वक पिटाई करने के कुछ दिनों बाद 22 जून को एक अस्पताल में मौत हो गई। पिटाई के दौरान उससे जय श्रीराम और जय हनुमान के नारे भी लगवाये गए थे। घटना सामने आने के बाद इस मामले में जमकर राजनीति भी हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here