VIDEO: राजीव प्रताप रूडी और हेमा मालिनी ने अपनी ही सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, लोकसभा में विपक्ष की भूमिका में दिखे दोनों BJP सांसद

0

केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो सांसदों राजीव प्रताप रूडी और हेमा मालिनी ने सोमवार को बिहार और उत्तर प्रदेश में पर्यटन संबंधी परियोजनाओं के कार्यान्वयन के लिए पर्याप्त कदम के अभाव को लेकर अप्रसन्नता जतायी और सरकार से इस दिशा में जरूरी कदम उठाने की अपील की। लोकसभा में सवालों के जरिए अपनी ही सरकार को सरकार को कटघरे में खड़ा करने राजीव प्रताप रुडी ने जमकर हमला बोला। वहीं, पार्टी की ही हेमा मालिनी ने भी ब्रज क्षेत्र में पर्यटन के विकास के लिए पर्याप्त काम नहीं होने की बात कहकर रुडी के सुर में सुर मिलाया।

सदन में पूरक प्रश्न के दौरान रुडी ने इको-टूरिज्म के क्षेत्र में बिहार की अनदेखी किए जाने का सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि एशिया के सबसे बड़े पशु मेला सोनपुर और अपने संसदीय क्षेत्र सारण में गंगा, गंडक और घाघरा के संगम स्थल पर डॉल्फिन की बहुतायत वाले क्षेत्र को इको-टूरिज्म के रूप में विकसित करने के लिए पिछले तीन साल में कई पत्राचार किए जाने के बाद अब तक कुछ भी नहीं किया गया है।

उन्होंने अपने आरोप के समर्थन में उन पत्राचारों की प्रतियां भी सदन में लहराई और अध्यक्ष ओम बिरला से कहा कि यदि वह चाहते हैं तो ये प्रतियां वह उन्हें या सरकार को सौंप सकते हैं। समाचार एजेंसी यूनिवार्ता के मुताबिक, रूडी ने कहा कि प्रदेश में इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए कोई ठोस पहल नहीं की गई है। इस बारे में उन्होंने मंत्रालय को कई पत्र लिखे हैं लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला।

उन्होंने इस संबंध में गंडक-घाघरा नदी के बीच डालफिन मिलने का जिक्र किया और कहा कि यह इको टूरिज्म का केंद्र बन सकता है जिसके लिए लोग आर्मेनिया सहित दुनिया के कई देशों में जाते हैं। रूडी ने बिहार में सोनपुर पशु मेले का उदाहरण दिया और कहा कि इस बारे में बिहार सरकार का एक प्रस्ताव भारत सरकार के पास लंबित है। इस पर ध्यान दिया जाए। सरकार की ओर से पर्यटन राज्य मंत्री प्रह्लाद पटेल ने उन्हें जो जवाब दिया, उससे वह संतुष्ट नजर नहीं आए और उन्होंने मंत्रालय के अधिकारियों के कामकाज को लेकर नाराजगी भी जताई।

इस पर पटेल ने कहा कि बिहार सरकार ने इसके लिए कोई प्रस्ताव नहीं भेजा है। उनके इस तेवर से विपक्षी सदस्यों में खुशी की लहर महसूस की गई। जब अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद रुडी बैठ गए तो विपक्षी सदस्यों ने मेजें थपथपाकर उनका अभिवादन किया। गौरतलब है कि इस सत्र के शुरू से ही रुडी सरकार को विभिन्न मसलों पर घेरने का प्रयास कर रहे हैं।

हेमा मालिनी ने मिलाया रुडी के सुर में सुर

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, रूडी के तुरंत बाद हेमा मालिनी ने भी अपने पूरक प्रश्न में अपने संसदीय क्षेत्र मथुरा में कृष्णा सर्किट के तहत अपर्याप्त काम होने की बात कहकर सरकार को असहज स्थिति में ला दिया। उत्तर प्रदेश में मथुरा से भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि सरकार ने कृष्ण सर्किट के कार्यक्रम को आगे बढ़ाया है, जिसके दायरे में मथुरा, बृंदावन और उससे लगे क्षेत्र आते हैं। लेकिन इस योजना की प्रगति के बारे में कहने योग्य कुछ काम नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा कि इसे समय पर पूरा करने के लिए तेजी से काम आगे बढ़ाए जाने की जरूरत है। हेमा मालिनी की इस बात पर विपक्षी सदस्यों के चेहरे एक बार फिर खिल उठे। इसके बाद पर्यटन मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने कहा कि पर्यटन से जुड़ी सभी विकास योजनाएं प्रदेश सरकारों के प्रस्ताव के माध्यम से आती है। बिहार से एक प्रस्ताव आया है लेकिन इस संबंध में डीपीआर नहीं प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि कृष्ण सर्किट के कार्य की समीक्षा चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here