महाराष्ट्र: 1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट के दोषी अब्दुल गनी तुर्क की नागपुर के एक अस्पताल में मौत

0

मुंबई में 1993 में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे अब्दुल गनी तुर्क की गुरूवार को मौत हो गयी। तुर्क 2012 से ही नागपुर केंद्रीय जेल में कैद था। उसे देश की आर्थिक राजधानी के सेंचुरी बाजार में बम रखने के मामले में दोषी करार दिया गया था।

उल्लेखनीय है कि सेंचुरी बाजार मुंबई के उन 12 स्थानों में से एक है, जहां 12 मार्च 1993 को बम धमाके हुए थे। इन धमाकों में कम से कम 257 लोग मारे गए थे। जेल अधीक्षक रानी भोसले ने पीटीआई भाषा को बताया कि पिछले कुछ समय से तुर्क का स्वास्थ्य अच्छा नहीं था और उसे 22 अप्रैल को सरकारी मेडिकल कालेज ले जाया गया था।

उन्होंने बताया कि आज सुबह वह अचेत होकर गिर पड़ा और उसे जीएमसीएच में भर्ती कराया गया, जहां दोपहर पौने एक बजे उसे मृत घोषित कर दिया गया। पिछले साल वह पक्षाघात से ग्रसित हो गया था। जेल अधीक्षक ने बताया कि शव परीक्षण की रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here