रायबरेली में पुलिस हिरासत में 19 वर्षीय दलित लड़के की मौत, सड़क पर उतरे ग्रामीण

0

उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिला के लालगंज थाने में रविवार रात एक 19 वर्षीय दलित लड़के की पुलिस हिरासत में मौत हो गई। लड़के की मौत के बाद स्थानीय लोगों और मृतक के परिजनों ने पुलिस पर अत्याचार का आरोप लगाते हुए सड़क जाम कर पुलिस के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया। जिला प्रशासन ने घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। इस बीच, लालगंज पुलिस स्टेशन के एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है।

रायबरेली

पुलिस अधीक्षक (एसपी) स्वप्निल ने इस घटना को लेकर विभागीय जांच का भी आदेश दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बेहता कलां गांव के रहने वाले मोहित और उसके भाई सोनू को पुलिस ने शुक्रवार को वाहन चोरी के संदेह में गिरफ्तार कर लालगंज पुलिस स्टेशन हिरासत में रखा था।

परिवार के सदस्यों का कहना है कि हिरासत में ले जाने के कुछ घंटों के बाद सोनू को रिहा कर दिया गया, जबकि मोहित को पुलिस कर्मियों ने हिरासत में कथित रूप से प्रताड़ित किया, जहां हालत बिगड़ने पर उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, एसपी ने पत्रकारों से कहा, “हमें मृतक के परिवार के सदस्यों से एक शिकायत मिली है जिसमें उन्होंने कथित रूप से दो उप-निरीक्षकों पर अत्याचार का आरोप लगाया हैं। शिकायत का सत्यापन किया जा रहा है जिसके आधार पर हम एक प्राथमिकी भी दर्ज करेंगे।”

पुलिस अधीक्षक ने कहा, सबसे पहले हमने एसएचओ लालगंज, हरी शंकर प्रजापति को पुलिस स्टेशन पर 24 घंटे से अधिक गैरकानूनी हिरासत में रखने का आरोपी पाया, जिसके बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है।” बता दें कि, रायबरेली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here