उत्तर प्रदेश: नहीं थम रहीं गैंगरेप की वारदात, मुजफ्फरनगर जिले में 17 वर्षीय दलित किशोरी से सामूहिक बलात्कार

0

रेप के दोषियों के खिलाफ कड़े कानून बनने के बावजूद भी देश में महिलाओं और बच्चों के साथ बढ़ते अपराध कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है, जिसका ताजा मामला एक बार फिर से देखने को मिला है। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में 17 वर्षीय एक दलित किशोरी से पांच युवकों ने कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया।

उत्तर प्रदेश
प्रतीकात्मक तस्वीर

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियों ने घटना का एक वीडियो भी बनाया। उन्होंने बताया कि यह घटना रविवार को रतनपुरी पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले फुलेट गांव में हुई। पीड़ित के भाई द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार, किशोरी पशुओं के लिए चारा एकत्र करने खेतों में गई थी जहां आरोपियों ने उसे पकड़ लिया। शिकायत में कहा गया है कि आरोपियों ने पीड़ित को घटना की जानकारी किसी को भी देने पर वीडियो सार्वजनिक करने की धमकी दी।

थाना प्रभारी कमल सिंह चौहान ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। शेष दो को पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं।

बता दें कि, जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले के हीरानगर तहसील के रसाना गांव में इसी साल की शुरूआत में जनवरी महीने में आठ साल की बच्ची का अपहरण कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया और फिर उसकी जघन्य तरीके से हत्या कर दी गई। बच्ची के साथ दरिंदगी और हत्या के मामले में स्थानीय लोगों समेत अब तमाम बड़ी हस्तियों का भी गुस्सा देखने को मिला था। इस घटना की आलोचना देश में ही नहीं बल्कि विदेश के बाहर भी किया गया था।

जिसके बाद सरकार ने बच्चियों के साथ बलात्कार पर एक कड़ा कानून बनाया। इस कानून के तहत 12 साल से कम उम्र के लड़कियों से बलात्कार करने वालों के लिए मौत की सजा का प्रावधान रखा गया। बता दें कि इस कानून के बाद भी देश में मासूम बच्चियों व महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाए रुकने का नाम ही नहीं ले रहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here