संकट में कुमारस्वामी सरकार: कर्नाटक में एक बार फिर लौटी ‘रिजॉर्ट राजनीति’, इस्तीफा दे मुंबई पहुंचे कांग्रेस-JDS के असंतुष्ट विधायक

0

कर्नाटक में एक बार फिर ‘रिजॉर्ट राजनीति’ लौट आई है। कर्नाटक विधानसभा स्पीकर को इस्तीफा सौंपने वाले 13 विधायकों में से 10 विधायक चार्टर्ड विमान से मुंबई पहुंच गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस्तीफा दे चुके विधायकों को लेकर 2 चार्टेड विमानों ने शनिवार को बेंगलुरु से मुंबई के लिए उड़ान भरी थी। इसमें से 10 विधायक मुंबई पहुंच गए हैं। कुछ मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, यह विमान एक भाजपा सांसद का था। सूत्रों ने बताया कि उन्हें वहां एक होटल में ठहराया गया है।

एच डी कुमारस्वामी
फाइल फोटो: CM Kumaraswamy

राज्य की गठबंधन सरकार शनिवार को तब संकट में आ गई जब गठबंधन के 13 विधायकों ने अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंप दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार को कांग्रेस के 10 और जेडीएस के 3 विधायकों ने विधासनभा स्पीकर के दफ्तर में अपने इस्तीफे सौंप दिए। 118 विधायकों के साथ चल रही सरकार के पक्ष में अब 105 ही विधायक है। दूसरी तरफ मुख्य विपक्षी दल भाजपा भी 105 सीटों पर ही काबिज है। भाजपा के सत्ता पर काबिज होने के आसार बढ़ गए हैं, क्योंकि सोमवार को 5 से 6 और विधायकों के इस्तीफे देने की चर्चाएं हैं।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बी एस येदियुरप्पा ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘अन्य प्रतिद्वंद्वी दलों में हुए घटनाक्रमों से मेरा और मेरी पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने मीडिया में आई खबरों में सुना है कि कांग्रेस और जद (एस) विधायकों ने अपनी-अपनी विधानसभा सीटों से इस्तीफा दे दिया है।’’ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी सदस्यता अभियान में व्यस्त है। उन्होंने कहा, ‘‘एक चीज मैं कह सकता हूं कि लोग चुनाव के लिए तैयार नहीं हैं। चुनाव सरकारी खजाने पर बोझ हैं।’’

भाजपा विधायक सीएन अश्वथ नारायण ने इन खबरों से इनकार किया कि वह इन विधायकों की यात्रा और उनके मुंबई में ठहरने के इंतजाम में मदद कर रहे हैं। उन्होंने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, ‘‘विधायक खुद गए हैं। भाजपा का इससे कोई लेना-देना नहीं है।’’

कांग्रेस विधायकों को पाले में लाने में जुटी है, लेकिन इस्तीफा देने वाले 13 विधायकों में से 10 स्पेशल विमान से मुंबई चले गए हैं और एक लग्जरी होटल में ठहरे हैं। इस बात के साफ संकेत हैं कि 105 विधायकों वाली बीजेपी 224 सदस्यीय विधानसभा में सरकार गठन की ओर बढ़ सकती है। कुमारस्वामी सरकार पर यह संकट ऐसे समय पर आया है, जब वह अमेरिका के दौरे पर हैं। इस बीच सूबे में सरकार बचाने के लिए जेडीएस की बजाय कांग्रेस ही पूरी तरह से सक्रिय है।

सूत्रों के अनुसार दो निर्दलीय विधायक जिन्हें हाल ही में मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था उन्होंने भी मंत्रिमंडल में इस्तीफा देने निर्णय लिया है और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की 105 सदस्यों को अपना समर्थन देने का फैसला किया है। कर्नाटक विधानसभा की 224 सीटें है। जिसमें कांग्रेस के पास 78, जद(एस) के पास 37, दो निर्दलीय और बहुजन समाज पार्टी के पास एक सीट है।

जनवरी में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले कांग्रेस ने भाजपा के डर से अपने विधायकों को एक रिजॉर्ट भेज दिया था। गुजरात कांग्रेस के विधायक भी 2017 में राज्य में ठहरे थे, क्योंकि कांग्रेस को डर था कि राज्यसभा चुनाव से पहले विधायक छिटक सकते हैं। इससे पहले मैसूरू जिला पंचायत चुनाव के दौरान भाजपा और जद (एस) के सदस्य राजनीतिक शिकार के डर से इसी रिजॉर्ट में रुके थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here