शिवराज ने विदेश यात्रा पर खर्च किए 1.39 करोड़ रुपये

0

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में जापान और दक्षिण कोरिया की 9 दिन की यात्रा पर गए 9 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने 1.39 करोड़ रुपये खर्च किए थे। यह यात्रा 29 सितंबर से 7 अक्टूबर के बीच हुई थी। इस खर्च में निवेशकों और राजनैतिक नेताओं को दिए गए उपहार भी शामिल हैं।

यह जानकारी सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत आरटीआई कार्यकर्ता अजय दुबे द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में मिली है।

खास बात यह है कि दस्तावेजों से पता चला है कि चौहान एक बाल रोग विशेषज्ञ को बतौर निजी चिकित्सक (पर्सनल फिजीशियन) अपने साथ ले गए थे।

दस्तावेजों के मुताबिक मुख्यमंत्री के कार्यालय ने वाणिज्य विभाग और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के प्रधान सचिवों से अनुरोध किया था कि यहां के जयप्रकाश चिकित्सालय के बाल रोग विशेषज्ञ आर.के.राय को मुख्यमंत्री के निजी फिजीशियन के रूप में उनके साथ जाने दिया जाए।

आरटीआई कार्यकर्ता अजय दुबे को यह जवाब नवंबर में मध्य प्रदेश ट्रेड एंड इंवेस्टमेंट फैसिलिटेशन कारपोरेशन लिमिटेड (टीआरआईएफएसी) से मिला है। इसमें बताया गया है कि राज्य सरकार के मृगनयनी एमपी एंपोरियम और एमपी लघु उद्योग निगम से लिए गए उपहारों को टोक्यो में मुख्यमंत्री चौहान की अध्यक्षता में निवेश पर होने वाली एक बैठक में शामिल लोगों को दिया गया। इन उपहारों का कोई व्यावसायिक मूल्य नहीं था।

आरटीआई जवाब के मुताबिक 18.50 लाख रुपया हवाई यात्रा पर खर्च हुआ। 35 लाख होटल पर (जापान में 23 लाख और दक्षिण कोरिया में 12 लाख) खर्च हुआ। 20 लाख स्थानीय परिवहन (12 लाख जापान में और 8 लाख दक्षिण कोरिया में) पर खर्च हुआ।

एक दस्तावेज से पता चला है कि दुभाषिए पर 10,13,740 रुपये खर्च किए गए हैं।

दुबे ने कहा, “एक ऐसे समय में जब राज्य में किसान सूखे की वजह से आत्महत्याएं कर रहे हैं, मुख्यमंत्री विदेश यात्राएं कर रहे हैं। जहां तक निवेश की बात है तो जापान और दक्षिण कोरिया की प्राथमिकता सूची में दर्ज भारतीय राज्यों में मध्य प्रदेश नहीं आता।”

शिवराज के साथ यात्रा पर जाने वालों में वाणिज्य, उद्योग और रोजगार मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, यशोधरा के विभाग के प्रधान सचिव मोहम्मद सुलेमान, उनके प्रधान सचिव एस.के.मिश्रा, मंत्री के सचिव हरि राजन राव, टीआरआईएफएसी के प्रबंध निदेशक डी.पी.आहूजा, मध्य प्रदेश औद्योगिक केंद्र विकास निगम के निदेशक कुमार पुरषोत्तम और भारतीय उद्योग परिसंघ एवं अर्नस्ट एंड यंग भोपाल के एक-एक प्रतिनिधि शामिल थे।

साल में यह दूसरी बार है जब शिवराज की विदेश यात्रा पर सवाल उठा है।

अगस्त में दुबे की ही आरटीआई से पता चला था कि शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में अमेरिका की पांच दिन की यात्रा पर गए प्रतिनिधिमंडल पर 3 करोड़ रुपये खर्च हुए थे।

LEAVE A REPLY