मध्य प्रदेश : मंत्री की लात खाए बच्चे का पता नहीं , गांव पहुंची पुलिस

0

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में पशुपालन मंत्री कुसुम महदेले से लात खाए दस साल के बच्चे का पता नहीं चल रहा है, लिहाजा सोमवार को उसका पता लगाने के लिए पुलिस को उसके गांव हाटीपुर भेजा गया है। रविवार को सोशल साइट पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें मंत्री महदेले एक बच्चे के सिर पर लात मारते दिखाई दे रही हैं। यह वाकया उस समय का है, जब वे राज्य के स्थापना दिवस के मौके पर पन्ना जिला मुख्यालय के बस स्टैंड पर स्वच्छता अभियान के तहत सफाई कार्य में हिस्सा लेने के बाद अपनी कार की ओर बढ़ रही थीं। तभी दस वर्षीय एक बच्चे ने भीख में एक रुपया मांगा और उसने अपना सिर उनके पैरों के सामने रख दिया। इस पर महदेले ने कथित तौर पर बच्चे के सिर पर लात मार दी। इसके बाद मंत्री के गार्ड ने बच्चे को उठाकर पटक दिया। मंत्री कुसुम कार में बैठकर रवाना हो गईं।

इस घटना के बाद सोमवार को बच्चे का कोई पता नहीं चल पा रहा है। कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं के अलावा पत्रकार भी उसके गांव हाटीपुर गए, मगर उसका कोई पता नहीं चला। यह जानकारी जब पुलिस को हुई तो पुलिस भी सक्रिय हुई।

इस संदर्भ में आईएएनएस ने सोमवार को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आर. डी. प्रजापति और अनुविभागीय अधिकारी, पुलिस (एसडीओ,पी) आर. एस. बघेल से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि पुलिस को बच्चे के गांव भेजा गया है।

मासूम जिला मुख्यालय से लगभग 20 किलोमीटर दूर स्थित हाटीपुर गांव के आदिवासी परिवार का है, जो बृजपुरा थाना क्षेत्र में आता है। बृजपुरा के थाना प्रभारी के.पी. सेन से जब सोमवार की देर शाम को आईएएनएस ने संपर्क किया तो उनका कहना था कि वे हाटीपुर ही जा रहे हैं।

मंत्री द्वारा कथित तौर पर जिस बच्चे को लात मारी गई थी, उसने घटना के बाद रविवार को संवाददाताओं से कहा था, “मैंने रोटी के लिए दीदी (कुसुम) से पैसा मांगा था मगर दीदी ने पैसा नहीं दिया, लात मार दी।” उसने बताया था वह भीख मांगकर ही अपना पेट भरता है। वह रोटी के लिए पैसा मांग रहा था।

LEAVE A REPLY