बीजेपी की राजस्थान सरकार ने बांटा पोषहार कीमा-बीफ लेबल वाले पैकेट्स में

0
बीजेपी की राजस्थान सरकार के विभागों की लापरवाहियां लगातार देखने में आती रहती है। बेलगाम अराजकता और गुडांगर्दी के बीच लाचार प्रशासनिक रवैया अपनाए हुए सरकार अपना काम कर रही है।
ताजा मामला बीफ से जुड़ा हुआ है। मामला लापरवाही का है या सरकार ने ऐसा कदम उठाया ये जांच के बाद पता चलेगा। राजस्थान के भरतपुर में आंगनबाड़ी केंन्द्रो पर गर्भवती महिलाओं के लिये खाद्य सामग्रियों का वितरण किया जाता है। लेकिन भरतपुर के इन आंगनबाड़ी केन्द्रो पर ‘कीमा बीफ’ के पैकेट्स में पोषाहार परोसने का मामला सामने आया है।
ये घटना तब प्रकाश में आयी जब कम्युनिटी हेल्थ सेंटर्स के डाॅक्टर गुरूवार को इन क्षेत्रों का दौरा कर रहे थे। बच्चों और गर्भवती महिलाओं को इंटीग्रेटिड चाइल्ड डिवेलपमेंट सर्विसेज के तहत गुरुवार को खाद्य सामग्रियां बांटी जाती हैं। ताकि उनता स्वास्थ्य सही बना रहे।
मीडिया रिपोर्ट्स में एक डॉक्टर के हवाले से बताया गया है कि जब आंगनबाडी़ कार्यकर्ता से पूरे मामले के बारे पूछा गया तो उसने इस बारे में कोई भी जानकारी होने से इनकार कर दिया। हालांकि डॉक्टर ने इस मामले को अधिकारियों के सामने रखा है।
इस पूरे मामले की जानकारी भरतपुर महिला और बाल विभाग को भी दी गई है। विभाग ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं।
इस पूरे मामले में हैरानी की बात ये है कि ये घटना किसी एक आंगनवाड़ी केन्द्र पर नहीं हुई है बल्कि ‘कीमा बीफ’ के लेबल लगे इन पैक्ट्स को 10 आंगनबाड़ी केन्द्रो से वितरित किया गया। इन सभी पैक्ट्स पर ब्रिटिश कम्पनी वेटरोज का लेबल लगा हुआ है। अब देखना ये होगा कि क्या इतने बड़े पैमाने पर मीट सप्लाई हुआ है या इस तरह के लैबल्स पर ही सरकार अबसे आंगनबाड़ी केन्द्रों पर खाद्य सामग्री का वितरण किया करेगी।

LEAVE A REPLY