प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चंडीगढ़ के नागरिकों को जताया खेद

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर के माध्यम से चंडीगढ़ की उनकी यात्रा से हुईं असुविधाओं के लिए खेद व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि,”मेरी यात्रा से जो चंडीगढ़ के लोगों को असुविधाएं हुई उसके लिए खेद है, विशेष रूप से स्कूलों का बंद होना। इससे पूरी तरह से बचा जा सकता था।”

एक और ट्वीट कर मोदी ने कहा कि,”इस मामले को जांच के आदेश दिए जाएंगे और जिम्मेदारी भी तय की जाएगी। ”

केन्द्र शासित प्रदेशों के शिक्षा विभाग द्वारा पास किये गए आदेशों के अनुसार, शुक्रवार को सभी स्कूल व् कॉलेज को बंद करने के लिए निर्देशित किया गया था। अधिकारीयों का कहना है कि यह फैसला इसलिए किया गया था ताकि छात्रों को प्रधानमंत्री की यात्रा के दौरान यातायात जाम के कारण समस्याओं का सामना न करना पड़े। परीक्षाओं का समय में भी परिवर्तन कर दिया गया था।

सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री की रैली में आने वाले लोगों के लिए शहर की प्रमुख श्मशान भूमियों को भी पार्किंग स्पेस में तब्दील कर दिया गया था। लोगों ने सोशल मीडिया पर इसका क्रोध व्यक्त किया।

श्मशान भूमि के एक परिचर ने बताया कि सेक्टर 25 से तीन अंतिम संस्कार को सुबह सुबह मणि माजरा श्मशान भूमि के लिए भेज दिया गया था।

शुक्रवार सुबह प्रधानमंत्री ने चंडीगढ़ के पहले अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के उदघाटन के लिए चंडीगढ़ गए थे।  जिसके बाद उन्होंने स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पीजीआईएमईआर) के 34 वें दीक्षांत समारोह में छात्रों को संबोधित भी किया।

 

LEAVE A REPLY