पोर्न देखने में भारतीय तीसरे नम्बर पर

0
मोदी सरकार की पोर्न पर लगाम कसने की कोशिश के कुछ अलग ही नतीजे सामने आए है। दुनियाभर में भारतीय इस श्रेणी में तीसरे नम्बर पर आते है। पिछले दिनों पहलाज निहलानी साहब की सेंसर बोर्ड को लेकर की गई पहरेदारी और भारतीय संस्कृति को बचाने के प्रति सरकार की लामबंदी भरी कवायदों को ये एक करारा झटका है।
एक पोर्न वेबसाइट के हालिया आंकड़ों पर अगर नजर डाले तो कनाडा को पछाड़ते हुए भारत तीसरे पायदान पर आकर खड़ा हो गया है। भारत में पोर्न देखने और पसंद करने वालों की तादात का इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत में लोगों को इंटरनेट पर पोर्न साम्रगी कितनी पसंद आ रही है।
दुनियाभर के इंटरनेट यूजर्स ने बीते वर्ष 2015 में चार अरब, 38 करोड़, 24 लाख 86 हजार, 580 घंटे केवल पोर्न देखने में खर्च किए। अब तक के पेश हुए आंकड़ों में ये समयावधि बेहद चौकाने वाली है। 2015 में लोगों ने सर्वाधिक समय पोर्न देखने में गुजारा। ‘द नेक्स्ट वेब’ की और से पेश की गई रिर्पोट के अनुसार दुनियाभर से लोगों ने किसी ना किसी पोर्न साइट पर जाकर लगगभ 12 वीडियों देखें।
कनाडा को पछाड़ते हुए भारत तीसरे नम्बर पर आ गया जबकि इस कड़ी में ब्रिटेन दूसरे नम्बर पर रहा और पोर्न देखने की चाहत को बरकरार रखते हुए पोर्न देखने वालों में 41 फीसदी के साथ अमेरिका पहले नम्बर पर रहा जबकि फिलीपींस के लोगों ने पूरे साल में लगभग 12 से अधिक घंटे पोर्न देखने में बिताए जबकि क्यूबा के लोगों ने इसके लिये 5 मिनट से कुछ अधिक का समय लिया।
इसके अलावा 2015 में  इस पोर्न साइट पर जो शब्द सबसे ज्यादा सर्च किया गया वो था लव। तो लव की चाहत में बढ़ोत्तरी करते हुए भारत ने तीसरे नम्बर पर अपनी जगह बना ली है जिससे आने वाले दिनों में भारत में पोर्न को खपाने के लिये इस तरह की साइट्स एक बड़े बाजार के रूप में देखना शुरू कर देगी।

LEAVE A REPLY