पद्म अवार्ड सवालों के कटघरे में

0
मोदी सरकार ने 2016 के लिये दिए जाने वाले पद्म पुरस्कारों का घोषणा कर दी है। सोशल नेटवर्किंग पर इस बात का जमकर विरोध दर्ज किया जा रहा है कि मोदी सरकार ने खुद की प्रशंसा और बचाव करने वाले लोगों को पुरस्कार के लिये चयनित कर गलत फैसला लिया है।
पिछले दिनों बाॅलीवुड अभिनेता अनुपम खैर की अगुवाई में इंडिया गेट से निकाली गई असहिष्णुता के खिलाफ मार्च को सरकार ने नजरअंदाज नहीं किया है और अनुपम खैर को बड़े सम्मान से नवाजा इसके अलावा अनुपम खैर का साथ देने वाले अन्य लोगों को भी मोदी सरकार ने निराश नहीं किया।
आपको बता दे कि 2010 में अनुपम खैर ने सरकारों के इस रव्वैय पर अपना विरोध दर्ज करते हुए कहा था कि हमारे देश में पुरस्कार व्यवस्था का मजाक उड़ाने का जरिया बन गए है। किसी भी पुरस्कार की कोई साख नहीं रह गई हे। चाहे फिल्म पुरस्कार हो या पद्म पुरस्कार। लेकिन अब अनपुम खुद इस व्यवस्था के समर्थन में खड़े हो गए है और कह रहे है कि छोटे से शहर के फाॅरस्ट डिपार्टमेंट के क्लर्क का बेटा अपनी मेहनत से पद्म भूषण पा रहा है।
Actor Anupam Kher's 2010 tweet in which he said that the awards had become a "mockery of our system...there is no authemcity left in any of them....", including Padma. Exactly six years later when he was included in the Padma Bhushan list, on Monday, he described it as the "greatest news of my life".
Actor Anupam Kher’s 2010 tweet in which he said that the awards had become a “mockery of our system…there is no authemcity left in any of them….”, including Padma. Exactly six years later when he was included in the Padma Bhushan list, on Monday, he described it as the “greatest news of my life”.
सब लोग जानते है कि उन्होंने इस अवार्ड के लिये कितनी मेहनत की है जिस बाॅलीवुड किसी भी धार्मिक विवाद, जातिग्त विवाद या अन्य किसी कारण से तोड़ा नहीं जा सकता था उन्होनें इस महान काम को अंजाम देकर बाॅलीवुड को दो हिस्सों में लाकर खड़ा कर दिया था। एक तरफ वो लोग थे जो असहिष्णुता और अराजकता पर सवाल उठा रहे थे कि सरकार ठोस कदम नहीं उठा रही इस तरह के माहौल को खत्म करने के लिये और दूसरी तरफ वो लोग थे जो सरकार का बचाव कर रहे थे और कह रहे थे कि ये विरोधियों द्वारा सरकार को बदनाम करने की साजिश है।
खैर सरकार ने उन सभी लोगों की मेहनत को बेकार नहीं जाने दिया और जमकर इनाम बांटे है। कुछ चुनिंदा लोग जिन्हें इस साल पद्म सम्मान से नवाजा जाएगा।
पद्म विभूषण 
1. धीरूभाई अंबानी – रिलायंस ग्रुप के फाउंडर (मरणोपरांत पद्मविभूषण के लिए चुने गए)
2. रजनीकांत – साउथ के सुपर स्टार
3. गिरिजा देवी – क्लासिकल सिंगल
4. रामोजी राव – लिटरेचर और एजुकेशन (जर्नलिज्म)
5. यामिनी कृष्णमूर्ति – क्लासिकल डांसर
6. डॉ. विश्वनाथन शांता – मेडिसिन फील्ड में योगदान
7. श्री श्री रविशंकर – आध्यात्मिक गुरु
8. जगमोहन – जम्मू-कश्मीर के पूर्व गवर्नर, पूर्व केंद्रीय मंत्री
9. डॉ. वी. के. अत्रे – साइंस एंड इंजीनियरिंग फील्ड में मशहूर
10. अविनाश दीक्षित – इंडियन-अमेरिकन इकॉनमिस्ट
पद्म भूषण
1. अनुपम खेर – एक्टर
2. उदित नारायण – प्लेबैक सिंगर
3. राम वी. सुतार – मूर्तिकार
4. एच. कन्हैयालाल – थियेटर
5. विनोद राय – सिविल सर्विसेस (पूर्व CAG चीफ)
6. वाई. लक्ष्मी – लिटरेचर और एजुकेशन
7. एन. एस. रामानुज टाटाचार्य – लिटरेचर और एजुकेशन
8. बिजेंदर सिंह हमदर्द – लिटरेचर और एजुकेशन
9. प्रोफेसर डी. नागेश्वर रेड्डी – मेडिकल फैकल्टी
10. राबर्ट डी ब्लैकविल – भारत में अमेरिका के पूर्व एंबेसडर
11. स्वामी तेजोमयानंद – अध्यात्म
12. साइना नेहवाल – बैडमिंटन प्लेयर
13. सानिया मिर्जा – टेनिस प्लेयर
14. इंदु जैन – एक मीडिया ग्रुप की हेड
पद्म श्री 
1. अजय देवगन – एक्टर
2. प्रियंका चोपड़ा – एक्ट्रेस
3. एस.एस. राजामौली – फिल्म डायरेक्टर (बाहुबली)
4. मालिनी अवस्थी – फोक सिंगर (लोक गायिका)
5. उज्ज्वल निकम – मुंबई के सीनियर एडवोकेट
6. मधुर भंडारकर – फिल्म डायरेक्टर

LEAVE A REPLY