चंडीगढ़ को मिला पहला अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौर से पहले पूरा शहर बन्द

0

चंडीगढ़ के मोहाली में सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है, जहां प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आज चंडीगढ़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया है। कल रात कथित तौर पर प्रधानमंत्री की यात्रा के खिलाफ काले झंडे विरोध प्रदर्शन की योजना बना रहे कुछ स्थानीय कांग्रेसी नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया गया।

कम से कम 4,500 पुलिस कर्मियों को निगरानी रखने के लिए तैनात किया गया था। विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) के 30 से अधिक सदस्यों की एक टीम को सुरक्षा योजना तैयार करने के लिए मंगलवार को ही शहर में तैनात कर दिया गया था।

शुक्रवार की सुबह चंडीगढ़ के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की शुरूआत हुई, जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किय़ा।10 सितंबर को केन्द्र शासित प्रदेशों के शिक्षा विभाग द्वारा जारी किए गए आदेशों के अनुसार मोदी की इस य़ात्रा के दौरान चंडीगढ़ के सभी स्कूल व कॉलेज को बंद कर दिया गया था और जिनकी परीक्षा थी उनका समय़ परिवर्तन कर दिया गया था।

य़ह एय़रपोर्ट दो मंजिला बनाय़ा गय़ा है, जिसमें पहली मंजिल पर घरेलू और दूसरी मंजिल पर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए टर्मिनल बनाया गया है।

कुल 30 महीने में तैय़ार किय़ा गय़ा य़ह एय़रपोर्ट पूरी तरह से ईको फ्रेंडली है। इस एय़रपोर्ट में  200 मेगावाट का एक सोलर पावर सिस्टम लगाया गया है।

पहले की बात करें तो चंडीगढ़  में कोई भी अंतरराष्ट्रीय़ हवाई अड्डा नहीं था। सिर्फ एक घरेलू हवाई अड्डा था, जहां से सिर्फ करीब 20 फ्लाइट ही ऑपरेट होती हैं और जिसकी वजह से पंजाब, हिरयाणा और हिमाचल प्रदेश के लोगों को अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट लेने के लिए दिल्ली जाना पड़ता था।

यह वायु सेना के हवाई अड्डे से जुड़ा है, वायु सेना और सिविल दोनों की हवाई पट्टी एक ही है।  इन सब के बाद बस रात को चलने वाली अंतर्राष्ट्रीय फ्लाइट्स के लिए रक्षा मंत्री की हरी झंडी का इन्तजार रह गया है।

खबरों के मुताबिक नरेंद्र मोदी चंडीगढ़ के दौरे के बाद उत्तराखंड के लिए रवाना होंगे। प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी का यह पहला उत्तराखंड दौरा होगा। हालांकि ये उत्तराखंड का दौरा उनका निजी दौरा बताया जा रहा है। ऋषिकेश में मोदी के गुरु स्वामी दयानंद गिरी रहते हैं, जिनकी तबियत काफी दिनों से खराब बताई जा रही है इसलिए मोदी ऋषिकेश जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY