बंगाल में गर्भवती महिलाओं के लिए मोबाइल अलर्ट सेवा

0

देश के ग्रामीण हिस्सों की गर्भवती महिलाओं के लिए एक नई मोबाइल अलर्ट सेवा शुरू हुई है।

‘एम-हेल्थ सर्विस’ नाम से शुरू की गई इस सेवा का उद्देश्य बच्चे के जन्म तक गर्भवती महिला को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना है।

इस सेवा के तहत गर्भवती महिलाओं को मोबाइल के जरिए पंजीकरण कराना होगा। इसके बाद उन्हें समय-समय पर स्वास्थ्य एवं उपचार से संबंधित जानकारियां संदेश के जरिए भेजी जाएंगी।

वरिष्ठ रोग विशेषज्ञ एवं बंगाल ऑब्स्टेट्रिक एंड गायनीकोलॉजी सोसाइटी की पूर्व अध्यक्ष आरती बसु सेनगुप्ता ने सोमवार को यह सेवा लांच करते हुए कहा, “इस मोबाइल सेवा की मदद से गर्भवती महिलाएं स्वास्थ्य विशेषज्ञों से संपर्क स्थापित कर सकती हैं। उन्हें स्वास्थ्य संबंधित जानकारियों एवं जरूरी टीकों के बारे में समय-समय पर सूचित किया जाएगा।”

निश्चित समय पर चिकित्सा प्राप्त न करने की दशा में गर्भवती महिलाओं को दोबारा संदेश भेजकर याद दिलाई जाएगी। इस सेवा से जुड़े मरीजों के बारे में पूरी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध होगी और जैसे ही बच्चे के जन्म के बारे में जानकारी मिल जाएगी, उस महिला के लिए यह सेवा स्वत: बंद हो जाएगी।

सेनगुप्ता ने हालांकि सुदूरवर्ती इलाकों तक इस सेवा की पहुंच को लेकर सवाल भी उठाए।

उन्होंने कहा, “लेकिन सबसे अहम बात यह है कि इस सेवा का लाभ लेने के लिए पहल गर्भवती महिला को ही करनी होगी, इसलिए इस सेवा की सफलता गर्भवती महिलाओं की जागरूकता पर निर्भर करेगी। इसके अलावा मोबाइल फोन से उत्सर्जित होने वाला विकिरण भी चिंता का विषय है।”

मानभूम आनंद आश्रम नित्यानंद न्यास की पहल पर यह सेवा शुरू की गई है।

LEAVE A REPLY