क्या नई नियुक्तियों को झेल पाएगी एयर इंडिया ?

0

पिछले कुछ सालों से एयर इंडिया के वेतन बिल में गिरावट आ रही है।

लेकिन इन सबके बीच एयर इंडिया नई नियुक्तियां कर रही हैं, जिससे एयर इंडिया पर 100 करोड़ का अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा। लेकिन क्या इस बोझ को झेल पाएगी जो कि पहले से ही घाटे में चल रही है।

सार्वजनिक क्षेत्र की विमान कंपनी एयर इंडिया अब 800 अतिरिक्त चालक दल सदस्यों और कमांडरों सहित करीब 250 पायलटों की नियुक्ति से और वित्तीय संकट का सामना करेगी। क्योंकि इन नई नियुक्तियों से चालू वित्त वर्ष में एयरलाइंस का वेतन बिल 100 करोड़ रुपये बढ़ जाएगा।

रिपोर्टों के मुताबिक एयरलाइंस ने कहा है कि इसके अलावा विभिन्न वर्गों में पदोन्नति और महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी से भी कंपनी की लागत बढ़ेगी। 31 मार्च 2016 की अवधि में इसके 3200 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है।

एयर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक अनुमान है कि केबिन क्रू, पायलटों और अन्य श्रेणियों के कर्मचारियों की नियुक्ति से वेतन बिल 100 करोड़ रुपये बढ़कर 3200 करोड़ रुपये हो जाएगा।

जबकि एयर इंडिया पिछले वित्त वर्ष में वेतन बिल को घटाकर 3100 करोड़ रुपये पर लाने में कामयाब रही थी। साथ ही 2011-12 में यह 3600 करोड़ रुपये था।

LEAVE A REPLY