किसे बचना है ज़रूरी, आठ महीने का गर्भ या पति की नौकरी ?

0

चीन में सिंगल चाइल्ड पॉलिसी के चलते इस बार निशाने पर हैं एक 41 वर्ष की महिला। यह महिला आठ माह की गर्भवती है और यह उनका दूसरा बच्चा होगा, और यदि उन्होंने इस बच्चे को जन्म दिया तो उनके पति को अपनी सरकारी नौकरी से हाथ धोना पड़ेगा। इस महिला का पति एक पुलिस अफसर हैं। फ़िलहाल महिला गर्भपात कराने की तैयारी में हैं।

सोशल मीडिया पर अब यह बहस तेज़ हो गई है कि क्या सरकारी कर्मचारियों पर ये पालिसी जबरन थोपी जा रही है।

चीन में फैमिली प्लानिंग के मुताबीव पति-पत्नी दूसरा बच्चा पैदा नहीं कर सकते, और अगर दूसरा बच्चा जन्मा तो उनको अपनी सरकारी नौकरी छोड़नी होगी। यही नहीं अगर ऐसा किया तो उनको जुरमाना भी भरना होगा। इतना सब होने के बाद यह महिला इतनी ज्यादा डर गयी है कि अपना नाम तक बताने से इंकार कर रही है।

महिला ने बताया कि,”हमे नहीं पता था कि  यह मामला इतना ज्यादा सुर्ख़ियों में आजाएगा। अब लगता है कि  कहीं ऐसा न हो कि  गर्भपात कराने के बाद भी मेरे पति की नौकरी चली जाए। हमने सोचा था कि कुछ वक़्त में शायद इस पालिसी में कुछ बदलाव होगा, और तब हम दूसरे बच्चे की सोच सकते हैं। लेकिन इसी के चलते अनचाहा गर्भ ठहर गया। ”

इस मामले के बारे में जब फैमिली प्लानिंग अधिकारी वेन जुपिंग से पुछा गया तो उन्होंने बताया,”हम किसी से भी किसी तरह की ज़बर्जस्ती नही कर रहे हैं। पर यह तो गलत होगा की नियम तोड़ने वाले दंपत्ति सजा से बचना चाहते हैं। हमे तो यह भी शक है की कहीं इसी वजह से तो नहीं उन्होनें ने सोशल मिडिया पर इस मुद्दे को सुर्ख़ियों में लाने का फैसला किया।”

दूसरी तरफ राहत की बात यह है कि वेब ट्रेवल एजेंसी सिट्रिप के एहम अधिकारी जेम्स लियांग ने महिला के पति की नौकरी छूटने पर अपने यहां काम करने का न्योता दिया है।

2012 में भी इसी तरह उत्तरी प्रांत शांक्सी में एक 23 वर्ष की महिला का गर्भावस्था के अंतिम समय पर उसका गर्भपात कराया गया था। इस मुद्दे पर लोग काफी भरके थे, और फैमिली प्लानिंग अधिकारी को सजा तक हो गयी थी। चीन में कई ऐसे गुट है जो सिंगल चाइल्ड पॉलिसी के खिलाफ मोर्चे लगाते है और कहते है कि  इसकी वजह से चीन बूढ़ा होता जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग इसके फवौर में जाते हुए इसे सही बताते है और कहते हैं कि देश की आबादी नियंत्रित करने का यह सही तरीका है।

LEAVE A REPLY